बदमाश की दबंगई के आगे लाचार नजर आई गुना पुलिस

गुना । (शारदा एक्सप्रेस) बड़े-बड़े बदमाशों को सलाखों के पीछे पहुंचाने का दम भरने वाली गुना पुलिस आज एक कुख्यात बदमाश के आगे वायरल वीडियो में लाचार नजर आ रही है जहां बदमाश द्वारा पुलिस महकमे के एक आरक्षक की कालर पकड़कर पुलिस कर्मियों को अश्लील गालियां देते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो रहे हैं बताया जा रहा है कि यह वीडियो विजयपुर थाने का है जहां कुख्यात बदमाश रघु तोमर उर्फ रघु रोकड़ा के द्वारा पुलिस कर्मियों को अश्लील गालियां दी जा रही हैं । शोशल म़ीडिया पर ये वीडियो जिले भर में जमकर वायरल हो रहे हैं। वीडियो में एक कुख्यात बदमाश शराब के नशे में उत्पात मचाते हुए घूम रहा था और पुलिस जब उसे पकड़ने पहुंची तो बेखौफ बदमाश पुलिस से भिड़ गया। उसने न केवल पुलिसवालों से झूमाझटकी की बल्कि सरेआम गालियां और धमकी भी दीं। जब ये सब चल रहा था तब वहां मौजूद किसी व्यक्ति ने मोबाइल से ये वीडियो बना लिए जो अब वायरल हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वीडियो 3 नवंबर की रात को विजयपुर थाना अंतर्गत हुए घटनाक्रम के बताए जा रहे हैं। जहां ग्राम दौराना में स्थित एक होटल पर बदमाश के उत्पात मचाने की सूचना पर पुलिस पहुंची थी। शराब के नशे में धुत्त बेखौफ बदमाश पुलिस वालों से भी उलझ गया, उसने वर्दीवालों की गिरेबान पकड़ी, झुमाझटकी की, उन्हें जमकर गालियां दीं और धमकी देता रहा। पुलिस कर्मियों ने बमुश्किल उसे काबू में किया और विजयपुर थाना लेकर पहुंचे। बदमाश द्वारा किए गए उत्पात और ऑन ड्यूटी पुलिस कर्मियों से की गई हाथा पाई, झूमाझटकी व गाली गलौज की सूचना भी जिम्मेदार अधिकारियों तक पहुंची। लेकिन इतने के बाद भी इस बदमाश पर एफआईआर दर्ज करने की हिम्मत कोई नहीं जुटा सका।सूत्र बताते हैं कि इस मामले में बदमाश पर शांति भंग करने की मामूली धारा लगाकर पुलिस ने खानापूर्ति कर ली और मेडिकल चैकअप के बाद उसे मजिस्ट्रेट के सामने पेश कर दिया। जहां से 7 नवंबर को उसे जमानत भी मिल गई। इस बीच ये वीडियो वायरल हो गए।वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि बदमाश कितना बेखौफ है। वह खुद का नाम लेकर पुलिस वालों को धमका रहा है। बदमाश रघु तोमर उर्फ रघु रोकड़ा पर पूर्व में दस हजार रुपए का ईनाम घोषित हुआ था। इस पर संगीन धाराओं में कई केस दर्ज हैं। कुछ दिनों पूर्व इसका लडकियों के साथ अश्लील डांस वीडियो भी वायरल हुआ था जिसमें एक पुलिसकर्मी भी डांस करते नजर आ रहा था, जिसे एसपी ने निलंबित कर दिया था। अब इन वीडियो के वायरल होने के बाद जनता सवाल कर रही है कि आखिर इस मामले में बदमाश पर एफआईआर दर्ज क्यों नहीं हुई। जबकि उसने ऑन ड्यूटी पुलिसकर्मियों के साथ हाथापाई, झुमझटकी, गाली गलौज, धमकी जैसी अपराधिक घटना सरेआम की है। सवाल उठ रहे हैं कि वो कौन लोग हैं जो इस बदमाश को संरक्षण देकर एफआईआर से बचा ले गए और अधिकारियों की भी ऐसी क्या मजबूरी रही कि वह भी वर्दी पर उठे हाथों को कानून का जामा पहनाने में नाकाम रहे। सवाल ये भी है कि क्या कोई और व्यक्ति पुलिस के साथ ऐसी घटना करता तो क्या वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उसे भी इसी तरह नज़र अंदाज कर देते।