बहुचर्चित सुरेन्द्रसिंह हत्या काण्ड के आरोपीगण को हुई आजीवन कारावास की सजा

झाबुआ । जिला मीडिया प्रभारी (अभियोजन) सुश्री सूरज वैरागी द्वारा बताया गया कि दिनांक 17.05.2018 को सुरेन्द्र सिंह पिता अमरसिंह नायक निवासी गडुली रम्भापुर हाल मुकाम लक्ष्मीनगर झाबुआ का अपनी मोटर साईकिल से रात 08:00 बजे घर से खाना खाकर बाजार गया था, जो वापस घर नहीं आया। दिनांक 18.05.2018 को छतरसिंह पिता प्रेमसिंह निवासी कालियाछोटा ने सुरेन्द्रर के गुम होने की सूचना दी, कि सुरेन्द्र सिंह पिता अमरसिंह नायक निवासी गडुली रंभापुर के संबंध में गुम होने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी, किन्तुह अभी सुरेन्द्र सिंह की लाश काला पीपल पुलिया के नीचे मृत अवस्थाम में पड़ी है। सूचना एवं पी.एम. रिपोर्ट से ज्ञात हुआ कि सुरेन्द्र  नायक को सिर में आई चोट को डॉक्टर द्वारा होमोसॉईडल नेचर की लेख होने से एवं घटना स्थेल निरीक्षण, जप्तो खून आलुदा पत्थर से मृतक सुरेन्द्र  नायक की अज्ञात आरोपी द्वारा हत्या् करना पाया गया था, जो धारा 302 भा.दं.वि. का अपराध घटित पाया जाने से थाना कोतवाली झाबुआ के अपराध क्रमांक 401/18 धारा 302 भा.दं.वि. का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। दौराने विवेचना के कथन गवाहन, मृतक सुरेन्द्र  नायक के मोबाईल नंबरों की सी.डी.आर., पत्नी प्रियंका की मोबाईल नंबरों की सी.डी.आर. व मुखबीर सूचना से संदेह के आधार पर आरोपी राहुल से पूछताछ करते हुए आरोपी राहुल ने जुर्म स्वीकार किया तथा मृतक की पत्नीी प्रियंका को पाने के लिये अपने साथी राकेश, बच्चुा उर्फ बसु को रुपये देकर दुष्प्रे रित कर सुरेन्द्र  नायक की हत्या करना बताया, बाद आरोपी राहुल, राकेश व बच्चु  की गिरफ्तारी करते आरोपी बच्चुर ने सुरेन्द्र  की हत्यार में आरोपी बापू पिता धुमसिंह व हुमला उर्फ सोमला को भी शामिल होना बताया जिस पर आरोपी हुमला को गिरफ्तार किया गया। धारा 27 साक्ष्यो अधिनियम के मेमो, जप्ती पंचनामा, व्हारट्सएप चैटिंग व मुखबीर सूचना से मृतक सुरेन्‍द्रसिंह नायक की हत्या  आरोपी राहुल द्वारा अपने साथी राकेश, बच्चु, बापू, हुमला को रुपये देकर षडयंत्र रचकर की गई थी। विवेचना के दौरान आरोपीगण के विरुद्ध धारा 120 बी, 109, 201, 34 भा.दं.वि. बढ़ाई गई। प्रकरण में आरोपीगण राहुल, राकेश, बच्चु सोमला की गिरफ्तारी होकर आरोपी बापू पिता धुमसिंह भूरिया, निवासी उबेराव के फरार होने से उसका फरारी में अभियोग पत्र न्या यालय में पेश किया गया। न्यायालय में प्रकरण के विचारण के दौरान अभियोजन की ओर से अभियोजन उप-संचालक के.एस. मुवेल साहब द्वारा प्रकरण में कुल 28 अभियोजन  साक्षियों के कथन न्यारयालय में सफलतापूर्वक करवाये गये एवं प्रकरण में लिखित तर्क भी प्रस्तुत किये गये। आरोपीगण द्वारा मृतक सुरेन्द्रसिंह की हत्या के अपराध को साक्षियों से साबित किया गया।  न्यायालय राजेश कुमार गुप्ता् , जिला एवं सत्र न्यायाधीश झाबुआ, जिला झाबुआ आरोपी राहुल, राकेश, बच्चु उर्फ बस्सुं, हुमला उर्फ सोमला को धारा 302/34 एवं 120बी भा.दं.वि. में दोषी पाते हुये आजीवन कारावास तथा 100-100 रुपये के अर्थण्ड से दण्डित किया गया। प्रकरण में शासन की ओर से प्रकरण में संपूर्ण संचालन उप-संचालक (अभियोजन)  के.एस. मुवेल, जिला झाबुआ द्वारा किया गया।

नाबालिका का अपहरण कर बलात्कार करने वाले आरोपी की जमानत हुई निरस्त

झाबुआ । मीडिया प्रभारी सुश्री सूरज वैरागी द्वारा बताया गया कि फरियादी द्वारा थाना रानापुर में उपस्थित होकर रिपोर्ट लिखवाई कि दिनांक 17 दिसंबर 2019 को उसकी लड़की घर पर स्कूल जाने का बोलकर निकली थी, उसके बाद दिन लगभग 03:00 बजे उसके भाई का लड़का दिवान फरियादी के घर आया और उसे बताया कि उसकी नाबालिग लड़की स्कूनल के पास वाली बोरी रोड़ पर पुलिया के पास विक्रम उर्फ इकराम से बातचीत कर रही थी उसने उसे देखा फरियादी मोटर साईकिल से अपनी लड़की की तलाश करने के लिये गया वह पुलिया के पास नहीं थी। फिर वह स्कूसल गया, स्कूल में पूछताछ करने पर पता चला कि उसकी लड़की स्कू ल आई थी परंतु 02:30 बजे रेसेस में वह चली गई थी फिर वह वापस नहीं आई थी उसके बाद फरियादी आरोपी सरदार के घर छोटी चूलिया गया लेकिन सरदार भी घर पर नहीं था। फरियादी ने अपनी लड़की और सरदार की तलाश राजकोट, द्वारका जामनगर, मोरवी, अहमदाबाद, सूरत, वड़ोदरा व कई स्थाजनों पर तलाश की किंतु लड़की कहीं नहीं मिली। उस दौरान लॉकडाउन भी लग गया था। फरियादी पता करता रहा किंतु कहीं उसे नहीं मिली। पुलिस थाना रानापुर द्वारा अनुसंधान के दौरान आरोपी विक्रम उर्फ इकराम को गिरफ्तार कर न्याायालय में पेश किया गया था। न्यायालय विशेष प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश संजय चौहान के न्यायालय में आरोपी की ओर से जमानत आवेदन पत्र प्रस्तुत किया गया था। शासन की ओर से विशेष लोक अभियोजक एस.एस.‍ खिची जिला लोक अभियोजन अधिकारी द्वारा विरोध करने पर आरोपी का जमानत आवेदन पत्र निरस्त किया गया।   

महिला सुरक्षा विषय पर चार दिवसीय वर्चुअल कार्यशाला संपन्न

झाबुआ ।  “महिला सुरक्षा”विषय पर प्रदेशस्तरीय वर्चुअल कार्यशाला का आयोजन मध्य प्रदेश लोक अभियोजन द्वारा किया गया जिसमें संपूर्ण मध्यप्रदेश से लगभग 25 विशेष लोक अभियोजन अधिकारीयों ने सहभागिता की।अभियोजन मीडिया प्रभारी वर्षा जैन के अनुसार संपूर्ण प्रदेश  के अभियोजन अधिकारी वेबीनार के माध्यम से कार्यशाला में सम्मिलित हुए।   कार्यशाला संचालक अभियोजन मध्यप्रदेश विजय यादव के मार्गदर्शन में आयोजित की गयी। कार्यशाला में लोक अभियोजन संयुक्त संचालक  एल.एस.कदम ने सर्वप्रथम अभियोजन अधिकारियों को संबोधित किया। उन्होंने कहां कि महिलाओं के विरुद्ध हो रहे अपराधों को रोकने के लिए न्यायालय,पुलिस एवं अभियोजन अधिकारी को समावेशी दृष्टिकोण अपनाना होगा। इसके बाद कार्यशाला को संबोधित करते हुए सीनियर साइंटिफिक ऑफीसर एम.पी भास्कर ने लैंगिक उत्पीड़न के अपराधों में फॉरेनसिंक साक्ष्य और मेडिकल साक्ष्य की भूमिका एवं महत्व पर व्याख्यान दिया। इसके बाद ई- लाइब्रेरी सॉफ्टवेयर का प्रशिक्षण भी अभियोजन अधिकारियों को दिया गया।कार्यशाला के द्वितीय दिवस एम.पी स्टेट जुडिशल अकादमी के डिप्टी डायरेक्टर यशपाल सिंह द्वारा इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य की सुसंगतता बिंदु पर उपलब्ध कानूनों की समुचित विवेचना लेटेस्ट केस ला के परिपेक्ष्य में की गई ।साथ ही इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य कैसे कलेक्ट करना चाहिए इस बिंदु पर विस्तार से बताया गया।कार्यशाला के तृतीय दिवस डायरेक्टर चाइल्ड लाइन अर्चना साह द्वारा महिलाओं के विरुद्ध अपराधों में अभियोजन के समक्ष आने वाली चुनौतियां एवं उनके समाधान के बारे में चर्चा की गई। कार्यशाला के अंतिम दिवस अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश दिनेश  खटीक एवं हेमंत जोशी द्वारा पीड़ित प्रतिकर योजना एवं साक्षी संरक्षण योजना के संबंध में विस्तार से बताया गया। इसके बाद आई.जी क्राइम अगेंस्ट वुमेन दीपिका सूरी द्वारा ट्रैफिकिंग एवं वुमेन सेफ्टी बिंदु पर चर्चा की गई। इसके बाद अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला सागर विधि सक्सेना द्वारा कार्यशाला को संबोधित करते हुए महिलाओं के विरुद्ध अपराध विषय पर उपलब्ध विधिक प्रावधानों की समुचित व्याख्या की गयी‌ ।उपरोक्त  वर्चुअल कार्यशाला में एडीपीओ सीमा शर्मा द्वारा पोक्सो एक्ट के संबंध में तथा एडिशनल डीपीओ संदीप पांडे द्वारा अनुसूचित जाति एवं जनजाति के विरुद्ध होने वाले अपराधों के विषय में तथा डीपीओ केके सक्सेना के द्वारा गवाह के परीक्षण के दौरान आने वाले कठिनाइयों एवं अंतिम तर्क के संबंध में एवं गवाहों की सुरक्षा तथा पीड़ित की सुरक्षा विषय पर तथा एडीपीओ नितेश कृष्णन द्वारा पीआइएटी एक्ट के विषय में अपने अपने व्याख्यान दिए गए। कार्यशाला में अभियोजन अधिकारीयों द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर भी दिए गए। कार्यशाला के अंत में संयुक्त संचालक अभियोजन मध्य प्रदेश एल एस कदम द्वारा कार्यशाला में लिए गए विधिक ज्ञान की खुशबू को अपने-अपने जिलों में फैलाने के निर्देश दिए गए। कार्यशाला में सहभागिता करने वाले सभी विशेष लोक अभियोजन अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र वेबीनार के माध्यम से दिए गए।जिला झाबुआ से विशेष लोक अभियोजक वर्षा जैन द्वारा स्वयं कार्यशाला में सहभागिता की गई  । कार्यशाला आयोजित करवाने में स्टेट आईटी कोआर्डिनेटर अमित शुक्ला एडीपीओ भोपाल का विशेष योगदान रहा।                         

धारदार तलवार के साथ के अभियुक्त रमसू गिरफ्तार न्यायालय ने भेजा जेल

झाबुआ ।  न्यायालय प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी रितु श्री गुप्ता ने धारदार तलवार लेकर आम जनता को भयभीत करने वाले अभियुक्त रमसू  को जेल भेजा। अभियोजन मीडिया सेल प्रभारी वर्षा जैन के अनुसार  घटना दिनांक 4 अक्टूबर 2020 की शाम 5:30 बजे स्थान मेघनगर रंभापुर रोड पंचकुंई फाटा ग्राम बेड़ावली मेघनगर में एक व्यक्ति  धारदार तलवार लेकर आम रोड पर घुम रहा था। जिससे आम जनता भयभीत हो रही थी। मेघनगर पुलिस ने मौके पर पहुंच कर अभियुक्त को घेराबंदी कर पकड़ा उसका नाम पता पूछने पर उसने अपना नाम रमसू पिता खेमचंद भूरिया निवासी झारा डाबर  बताया। पुलिस द्वारा उसके हाथ में लिए तलवार को सार्वजनिक स्थान पर रखने एवं लेकर घूमने के संबंध में अभियुक्त से  लाइसेंस मांगा ।लाइसेंस नहीं होने पर मौके पर तलवार जप्त कर अभियुक्त को गिरफ्तार किया । थाना मेघनगर पर आरोपी के विरुद्ध धारा 25 -बीआयुध अधिनियम का प्रकरण पंजीबद्ध कर  न्यायिक निरोध में न्यायालय में पेश किया।   न्यायालय द्वारा अभियुक्त की न्यायिक  अभिरक्षा स्वीकार करते हुए जिला जेल झाबुआ भेजा गया। राज्य की ओर से प्रकरण का संचालन सहायक जिला अभियोजन अधिकारी रवि प्रकाश राय द्वारा किया गया।                   

चाकू की नोक पर एक्सटॉर्शन करने वाले आरोपी को न्यायालय ने भेजा जेल

झाबुआ । थांदला न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी रितुश्री गुप्ता द्वारा चाकू अड़ा कर रुपए उद्दापित करने वाले आरोपी को जेल भेजा । अभियोजन मीडिया प्रभारी थांदला वर्षा जैन के अनुसार दिनांक 23 सितंबर 2020 की सुबह 11:00 बजे ग्राम बड़ा घोसिलिया मेघनगर में फरियादी नवीन बामन लवाना अपने घर से अपनी मोटरसाइकिल पर एक झोले में 500 -500 के कुल 140 नोट एवं 200 -200 के कुल 150 नोट इस प्रकार कुल एक लाख रुपए रखकर महेश सेठ निवासी मेघनगर को बाटे की देने जा रहा था ।जैसे ही वह झाराडावर गडूली रोड पर पहुंचा तभी हरचंदराय के खेत के पास की रोड पर अभियुक्त जस्सू सिंगाड़िया पिता भदर सिंगाडिया निवासी ग्राम खेड़ी ने अचानक से आकर चाकू दिखाकर फरियादी को धमकाया और पैसे देने के लिए कहा फरियादी ने डर के कारण अभियुक्त को रुपयों से भरा हुआ झोला दे दिया जिसे लेकर अभियुक्त जस्सू भाग गया। फरियादी की रिपोर्ट पर थाना मेघनगर की पुलिस द्वारा अभियुक्त जस्सू के विरुद्ध अपराध क्रमांक 285/20 धारा 384 भादवी की प्रथम सूचना रिपोर्ट लिखबद्ध की गई। विवेचना के दौरान थाना मेघनगर की पुलिस द्वारा अभियुक्त को अभिरक्षा में लेकर गिरफ्तार कर न्यायिक निरोध में न्यायालय प्रस्तुत किया गया जहां से न्यायालय द्वारा आरोपी को जेल वारंट से जिला जेल झाबुआ भेजा गया। राज्य की ओर से प्रकरण का संचालन सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी रवि प्रकाश राय द्वारा किया गया।

मारपीट कर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने वाले अभियुक्त को न्यायालय ने भेजा जेल

झाबुआ । थांदला न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी नदीम खान द्वारा अभियुक्त मांगीलाल पिता रूपा अड निवासी बालाखोरी को जेल भेजा गया । अभियोजन मीडिया प्रभारी थांदला वर्षा जैन के अनुसार दिनांक 26 सितंबर 2020 को फरियादी पटवारी श्यामसिंह मईड़ा पटवारी हल्का नंबर 43 ग्राम बालाखोरी में सुबह 10:00 बजे ग्राम पंचायत कार्यालय में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के अंतर्गत किसानों से आवेदन प्राप्त कर ऑनलाइन डाटा एंट्री कर रहे थे तभी  अभियुक्त मांगीलाल पिता रूपा अड निवासी बाला खोरी का कार्यालय में सीधे अंदर आया जिस पर फरियादी ने उससे लाइन पर लगने के लिए कहा तो अभियुक्त मांगीलाल बोला कि मैं बाहर नहीं निकलूंगा और लाइन पर भी नहीं लगूंगा । ऐसा कहकर वह फरियादी को मां बहन की अश्लील गालियां देने लगा गालियां देने से मना करने पर अभियुक्त फरियादी को मुक्का बांधकर कर मारने दौड़ा और कहने लगा कि मुझे पीएम किसान योजना के पैसे अभी तक नहीं मिले हैं जो मैं तुमसे लूंगा और तुम्हें नौकरी भी नहीं करने दूंगा ऐसा कह कर अभियुक्त  फरियादी के शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने लगा और जान से मारने की धमकी भी दी। इसके बाद पटवारी फरियादी ने घटना की जानकारी तहसीलदार एवं पटवारी संघ थांदला के अध्यक्ष को दी ।थाना थांदला की पुलिस द्वारा फरियादी पटवारी की रिपोर्ट पर अभियुक्त के विरुद्ध अपराध क्रमांक 409/2020 धारा 294 ,353, 186,352 ,506 भादवि की रिपोर्ट दर्ज की गयी। अनुसंधान के दौरान थाना थांदला की पुलिस द्वारा आज अभियुक्त को गिरफ्तार कर न्यायिक निरोध में न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय द्वारा अभियुक्त की न्यायिक अभिरक्षा स्वीकार करते हुए जिला जेल झाबुआ भेजा गया। राज्य की ओर से प्रकरण का संचालन सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी रवि प्रकाश राय द्वारा किया गया।

सेंधमारी कर चोरी वाले आरोपी को न्यायालय ने भेजा जेल

झाबुआ । न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी नदीम खान द्वारा आरोपी कुलदीप पिता विष्णु पवार निवासी पालसोद थाना उन्हेल जिला उज्जैन को थाना थांदला के अपराध क्रमांक 60/20 131/20 ,233 /20 धारा 457 380 में जेल भेजा गया ।  मीडिया प्रभारी थांदलावर्षा जैन के अनुसार आरोपी कुलदीप ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर थाना थांदला के अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग समय पर तीन रिहायशी घरों को निशाना बनाकर 3 चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया था। आरोप में दिनांक 11/ 02/20 को प्रथम घटना को अंजाम देते हुए अणु पब्लिक स्कूल थांदला का ताला तोड़कर ₹23000 चुराए थे जिसके रिपोर्ट प्राचार्य प्रमोद नायर द्वारा दर्ज करवाई गई थी। आरोपी द्वारा दिनांक 16/ 03/20 दूसरी घटना को अंजाम देते हुए दो भाइयों सुखलाल एवं पिंटू चारेल के रतनाली खवासा स्थित घर का ताला तोड़कर एवं दीवाल खोदकर चांदी के जेवरात चुराए गए थे जिसकी रिपोर्ट फरियादी दिनेश ने दर्ज करवाई थी । इसी प्रकार दिनांक 24/06/20 को रात्रि में आरोपी मुकेश भूरिया के ग्राम रून्डीपाडा स्थित घर का ताला तोड़कर चांदी का कंदोरा एवं कपड़े  तथा पैसे रुपए चुराए थे। फरियादी गण की रिपोर्ट पर थांदला द्वारा रिपोर्ट  दर्ज कर अनुसंधान किया जा रहा था अनुसंधान के दौरान यह ज्ञात होने पर कि आरोपी अन्य अपराधों में जिला जेल झाबुआ में निरुद्ध है उसे औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर प्रोडक्शन वारंट से तलब कर पुलिस द्वारा पुलिस रिमांड प्राप्त कर चोरी गया मशरूका बरामद कर आज जुडिशियल रिमांड पर न्यायालय में प्रस्तुत किया। न्यायालय ने आरोपी का न्यायायिक निरोध स्वीकार कर जिला जेल झाबुआ भेजा गया। प्रकरण का संचालन सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी रवि प्रकाश राय द्वारा किया गया।

चोरी की तीन अलग-अलग घटनाओं को अंजाम देने वाला आरोपी पुलिस रिमांड पर

झाबुआ । न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम श्रेणी नदीम खान द्वारा आरोपी कुलदीप पिता विष्णु पवार निवासी पालसोद थाना उन्हेल जिला उज्जैन को थाना थांदला के अपराध क्रमांक 60/20 131/20 ,233 /20 धारा 457 380 में पुलिस रिमांड पर भेजा गया । मीडिया प्रभारी थांदलावर्षा जैन के अनुसार आरोपी कुलदीप ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर थाना थांदला के अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग समय पर तीन रिहायशी घरों को निशाना बनाकर 3 चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया था। आरोप में दिनांक 11/ 02/20 को प्रथम घटना को अंजाम देते हुए अणु पब्लिक स्कूल थांदला का ताला तोड़कर ₹23000 चुराए थे जिसके रिपोर्ट प्राचार्य प्रमोद नायर द्वारा दर्ज करवाई गई थी। आरोपी द्वारा दिनांक 16/ 03/20 दूसरी घटना को अंजाम देते हुए दो भाइयों सुखलाल एवं पिंटू चारेल के रतनाली खवासा स्थित घर का ताला तोड़कर एवं दीवाल खोदकर चांदी के जेवरात चुराए गए थे जिसकी रिपोर्ट फरियादी दिनेश ने दर्ज करवाई थी । इसी प्रकार दिनांक 24/06/20 को रात्रि में आरोपी मुकेश भूरिया के ग्राम रून्डीपाडा स्थित घर का ताला तोड़कर चांदी का कंदोरा एवं कपड़े  तथा पैसे रुपए चुराए थे। फरियादी गण की रिपोर्ट पर थांदला द्वारा रिपोर्ट  दर्ज कर अनुसंधान किया जा रहा था अनुसंधान के दौरान यह ज्ञात होने पर कि आरोपी अन्य अपराधों में जिला जेल झाबुआ में विरुद्ध उसे औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर प्रोडक्शन वारंट से तलब कर पुलिस द्वारा पुलिस रिमांड प्राप्त किया गया जिससे चोरी गया मशरूका की बरामदगी किया जा सके।

स्टेट हाईवे पर हुई चर्चित लूट के आरोपी राहुल को न्यायालय ने भेजा जेल

झाबुआ । न्यायालय प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी नदीम खान द्वारा स्टेट हाईवे 18 पर लूट  करने के फरार आरोपी  को जेल भेजा गया।मीडिया सेल प्रभारी वर्षा जैन ने बताया कि फरियादी रितेश जैन निवासी बड़नगर दिनांक 28 /7/ 2018 बडनगर से अपनी ससुराल थांदला आया हुआ था जो दिनांक 29 /7/2018 को अपनी पत्नी एवं बच्चों के साथ वापस बड़नगर जा रहा था शाम करीब 8:10 बजे जैसे ही वह ग्राम छोटी बावड़ी रेलवे अंडर ब्रिज पर पहुंचा सामने से दो लड़के मोटरसाइकिल से आए और अपनी गाड़ी अडाकर रेलवे अंडर ब्रिज में उसकी कार रोक ली और दोनों लड़कों ने पत्थर और लठ से हमला कर कार का कांच तोड़ दिया उसी समय चार बदमाश  और आए एवं कार की चाबी निकालकर मारपीट कर रितेश एवं उसकी पत्नी से उनका पर्स ,मोबाइल ,कान की झुमकी, अंगूठी और चैन आदि लूट लिया फरियादी  की रिपोर्ट पर थाना थांदला द्वारा अपराध क्रमांक 385 /2018 धारा 394 427 भारतीय दंड विधान का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना की गई जिनमें से कुछ आरोपी पूर्व में गिरफ्तार हो चुके थे आज आरोपी राहुल पिता मगन भाबर निवासी किशन पुरी को पुलिस द्वारा न्यायिक निरोध में न्यायालय में  प्रस्तुत किया गया विचारोंपरांत न्यायालय द्वारा आरोपी का जुडिशियल रिमांड स्वीकृत कर उसे जुडिशल रिमांड पर वारंट बनाकर जिला जेल झाबुआ भेजा गया। मध्य प्रदेश राज्य की ओर से प्रकरण का संचालन सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी रवि प्रकाश राय द्वारा किया गया।

लूट के फरार आरोपी राहुल को न्यायालय ने भेजा पुलिस रिमांड पर

झाबुआ ।  न्यायालय प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी नदीम खान द्वारा लूट के फरार आरोपी को पुलिस रिमांड पर भेजा गया। मीडिया सेल प्रभारी वर्षा जैन ने बताया कि फरियादी रितेश जैन निवासी बड़नगर दिनांक 28 /7/ 2018 बडनगर से अपनी ससुराल थांदला आया हुआ था जो दिनांक 29 /7/2018 को अपनी पत्नी एवं बच्चों के साथ वापस बड़नगर जा रहा था शाम करीब 8:10 बजे जैसे ही वह ग्राम छोटी बावड़ी रेलवे अंडर ब्रिज पर पहुंचा सामने से दो लड़के मोटरसाइकिल से आए और अपनी गाड़ी अडाकर रेलवे अंडर ब्रिज में उसकी कार रोक ली और दोनों लड़कों ने पत्थर और लठ से हमला कर कार का कांच तोड़ दिया उसी समय चार बदमाश  और आए एवं कार की चाबी निकालकर मारपीट कर रितेश एवं उसकी पत्नी से उनका पर्स ,मोबाइल ,कान की झुमकी, अंगूठी और चैन आदि लूट लिया फरियादी  की रिपोर्ट पर थाना थांदला द्वारा अपराध क्रमांक 385 /2018 धारा 394 427 भारतीय दंड विधान का प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना की गई जिनमें से कुछ आरोपी पूर्व में गिरफ्तार हो चुके थे आज आरोपी राहुल पिता मगन भाबर निवासी किशन पुरी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर न्यायालय में पुलिस रिमांड हेतु प्रस्तुत किया गया विचारोंपरांत न्यायालय द्वारा आरोपी का पुलिस रिमांड स्वीकृत कर उसे पुलिस रिमांड पर भेजा गया। मध्य प्रदेश राज्य की ओर से प्रकरण का संचालन सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी रवि प्रकाश राय द्वारा किया गया ।