ट्रैफिक पुलिस का कारनामा आया सामने अवैध वसूली करते वीडियो हुआ वायरल

गुना । ( शारदा एक्सप्रेस ) सोशल मीडिया पर ट्रैफिक पुलिस द्वारा अवैध वसूली का एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है बताया जा रहा है कि यह वीडियो गुना ट्रैफिक थाने में पदस्थ एएसआई ईश्वर टोप्‍यो का है । जिनके द्वारा बिना रसीद दिए ही चालान की राशि ले ली गई ।
वीडियो से संबंधित मिली जानकारी के अनुसार वीडियो 6 सितंबर की शाम को किसी व्यक्ति द्वारा बनाया गया था जिसमें वाहन को रोकने के पश्चात कागजात पूरे न होने पर उक्त व्यक्ति से चालान के नाम पर अवैध रूप से बिना रसीद दिए 500 रुपऐ लिए गए । यह पूरा मामला पास ही में खड़े व्यक्ति द्वारा बनाए गए वीडियो में कैद हो गया जो कि सोशल मीडिया पर वायरल होने के साथ पुलिस की छवि को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है । आपको बता दें की ट्रैफिक पुलिस का अवैध वसूली को लेकर यह कोई पहला मामला नहीं है आए दिन इस प्रकार की वसूली ट्रैफिक पुलिस द्वारा चालान के नाम पर की जाती रही है ।
अब देखना होगा कि इस मामले पर वरिष्ठ अधिकारी दोषी पुलिसकर्मियों पर क्या कार्यवाही करते हैं ।

व्यापारी का अपहरण कर डेढ़ करोड़ फिरौती की मांग करने वाले 05 आरोपीयों को आजीवन कारावास

जावद।  व्यापारी का अपहरण करके उसके डेढ़ करोड़ रूपये की फिरौती की मांग करके 35 लाख रूपयों की फिरौती वसुलने वाले 05 आरोपीगण  विक्रम उर्फ विक्की पिता विष्णु प्रसाद पुरोहित, आयु-32 वर्ष, निवासी-ग्राम घसुण्डी बामनी, जिला नीमच , मानसिंह पिता मोहनलाल जाट, आयु-30 वर्ष, निवासी-जाट मोहल्ला खोर, जिला नीमच,  सूरज पिता मनोहरलाल सरगरा, आयु-24 वर्ष, निवासी-ग्राम केसरपुरा, थाना जावद जिला नीमच,  महेश पिता विनोद दमामी, आयु-22 वर्ष, निवासी-ग्राम केसरपुरा थाना जावद जिला नीमच तथा  प्रहलाद पिता घीसालाल सरगरा, आयु-25 वर्ष, निवासी-ग्राम केसरपुरा, थाना जावद जिला नीमच धारा 364क, 365, 120बी, 323/34, 506(2) भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत आजीवन कारावास व 25000-25000रू. जुर्माने से दण्डित किया।अपर लोक अभियोजक अरविन्द शर्मा, द्वारा घटना की जानकारी देते हुए बताया कि घटना लगभग 1 वर्ष पूर्व दिनांक 29.06.2021 को शाम के लगभग 06ः30 बजे की होकर थाना जावद क्षैत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम मोरवन स्थित मोरवन चादर की घटना हैं। फरियादी मनोज उर्फ बंटी कसेरा जो कि ग्राम मोरवन में बर्तन विक्रय का व्यवसाय करता हैं, प्रतिदिन की तरह मोटरसायकल से मोरवन चादर पर घुमने के लिये गया था, जहाँ पर दो लड़के आये व फरियादी को पिस्टल दिखाते हुवे डरा-धमकाकर एक आई-10 कार में ले गये जिसमें पहले से ही 3 और लड़के बैठे थे। इन्होंने फरियादी को जबरन कार में बैठाया व उसकी आँखो में मिर्ची डालकर आँखो पर पट्टी बाँध दी। पाँचो आरोपीगण फरियादी को 2-3 घण्टे कार में घुमाते हुवे उसको एक सुनसान खेत के सुखले से भरे हुवे कमरे में बंद कर दिया, जहाँ उन्होंने उसके साथ मारपीट करते हुवे धमकी दी कि यदि डे़ढ करोड़ फिरौती के दिये तो वह उसे छोड़ेंगे नहीं  तो वह उसे जान से खत्म कर देंगे। फरियादी द्वारा कहा गया कि वह छोटा व्यापारी हैं, उसके पास इतने रूपये नहीं हैं तो 35 लाख रूपये दिये जाने का तय हुवा। दिनांक 30.06.2021 को सुबह के 5 बजे फरियादी की पत्नी को फोन लगाकर रूपयों की माँग किये जाने पर फरियादी का पुत्र एक काले बैग में 25 लाख रूपये नगद व 10 लाख के गहने, इस प्रकार कुल 35 लाख रूपये खोर स्थित बालाजी मंदिर पर आकर आरोपीयों को दे गया। इसके पश्चात् आरोपीगण द्वारा फरियादी को केसुन्दा-छोटी सादड़ी सुनसान रोड़ पर छोड़ कर चले गये। आरोपीगण द्वारा फरियादी को दी गई जान से मारने की धमकी से वह डर गया था जिससे वह डर गया था किन्तु परिवारवालों व दोस्तो के समझाये जाने पर उसने दिनांक 01.08.2021 को थाना जावद में अज्ञात आरोपीयों के विरूद्ध रिपोर्ट लिखाई, जिस पर से अपराध क्रमांक 400/2021, धारा 364क, 365, 120बी, 323/34, 506(2) भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबद्ध की गई। पुलिस थाना जावद में पदस्थ एएसआई रामपालसिंह राठौर ने विवेचना के दौरान मुखबीर सूचना के आधार पर यह पता लगाया कि संदेही आरोपीगण आय से अधिक खर्चा कर रहे हैं तथा उनके पास सफेद आई-10 कार भी हैं। इस आधार पर आरोपीगण से पुछताछ कर उनको गिरफ्तार कर उनके कब्जे से प्रत्येक के हिस्से में आये नगद रूपये व फरियादी के जेवरों को जप्त किया गया। आरोपी महेश के कब्जे से घटना में प्रयोग की गई पिस्टल को भी जप्त करते हुवे विवेचना उपरांत अभियोग-पत्र जावद न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। अभियोजन द्वारा न्यायालय में विचारण के दौरान फरियादी, विवेचक, जप्ती अधिकारी, आरोपी व जेवरों की शिनाख्तगी करवाने वाले अधिकारीगण सहित सभी आवश्यक गवाहों के बयान कराये गये। फरियादी पक्ष द्वारा आरोपीगण की पहचान से इंकार किये जाने के बावजूद भी शिनाख्तगी व अनुसंधानकर्ता द्वारा की कार्यवाहीयों को विश्वसनीय मानते हुवे आरोपीगण के विरूद्ध अपराध को प्रमाणित पाया। श्री अरविन्द शर्मा, अपर लोक अभियोजक द्वारा घटना की गंभीरता को देखते हुए आरोपीगण को कठोर दण्ड से दण्डित किये जाने का निवेदन किया गया। माननीय न्यायालय द्वारा इस प्रकार के अपराधों पर अंकुश लगाये जाने के उदद्ैश्य से आरोपीगण को धारा 364क, 365, 120बी, 323/34, 506(2) भारतीय दण्ड संहिता, 1860 के अंतर्गत दोषी पाते हुए आजीवन कारावास एवं 25,000-25,000रू. जुर्माने से दण्डित किया गया। आरोपी महेश को धारा 25 आयुध अधिनियम, 1959 के अंतर्गत अतिरिक्त 1 वर्ष के सश्रम कारावास व 1000रू. जुर्माने से दण्डित किया गया। न्यायालय में शासन की ओर से पैरवी अपर लोक अभियोजक अरविन्द शर्मा,  द्वारा की गई।

जमीनी विवाद में महिला पर डीजल डालकर आग लगाने के मामले में दो महिलाओं सहित कुल पांच आरोपी गिरफ्तार

गुना । बमौरी थाना अंतर्गत ग्राम धनोरिया में जमीनी विवाद में एक महिला पर डीजल डालकर आग लगाने के मामले में बमौरी थाना पुलिस द्वारा दो महिला आरोपियों सहित कुल पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है । उल्लेखनीय है कि फरियादी अर्जुन पुत्र भमरा सहरिया उम्र 52 साल निवासी ग्राम धनोरिया, थाना बमौरी ने बताया कि ग्राम धनोरिया में उसके पास पट्टे की साढे छ: बीघा जमीन है, जिस पर गांव के ही प्रताप धाकडहनुमत धाकड, श्‍याम धाकड अपना कब्‍जा बताते हैं । अपनी जमीन पर उसे कब्‍जा दिलाने के लिये पूर्व में उसके द्वारा दिये गये आवेदन पर कार्यवाही करते हुये नायब तहसीलदार बमौरी द्वारा माह मई 2022 में उसकी जमीन की नंपाई कराकर उसे उसकी जमीन पर कब्‍जा दिला दिया गया था । लेकिन गत् दिनांक 02 जुलाई को उक्‍त तीनों ही उसकी जमीन पर सोयाबीन की फसल बोने के लिये पहुंचे तो खेत पर मौजूद उसकी पत्नि रामप्‍यारी बाई सहरिया उम्र 45 साल ने उन्‍हें उसके खेत में वोवनी करने से रोका तो उन लोगों प्रताप धाकडहनुमत धाकड एवं श्‍याम धाकड द्वारा उसकी पत्नि रामप्‍यारी बाई पर डीजल डालकर आग लगा दी, इसके बाद दोपहर करीब ढाई बजे जब वह खेत पर गया तो उसकी पत्नि रामप्‍यारी उसे जली हुई हालत में चिल्‍लाती मिली, जिससे उसकी इस हालत के संबंध में पूछने पर उसने बताया कि प्रताप धाकडहनुमत धाकड एवं श्‍याम धाकड ने उस पर डीजल डालकर आग लगा दी है । इसके बाद डायल 100 की मदद से वह अपनी पत्नि को उपचार हेतु जिला चिकित्‍सालय लेकर पहुंचा । जिसकी रिपोर्ट पर से थाना बमौरी में धारा 307, 34 भादवि एवं 3(2)(व्‍ही) एससीएसटी एक्‍ट के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया । घायल रामप्‍यारी बाई की गंभीर हालत को देखते हुये चिकित्‍सकों द्वारा उसे दिनांक 02 जून को ही जिला चिकित्‍सालय गुना से उपचार हेतु भोपाल रैफर कर दिया गया है । पुलिस अधीक्षक पंकज श्रीवास्‍तव द्वारा एक महिला पर डीजल डालकर आग लगाने की घटना को गंभीरता से लेकर इस घटना को अंजाम देने वाले सभी आरोपियों को जल्‍द से जल्‍द गिरफ्तार करने हेतु अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार सिंह के मार्गदर्शन एवं एसडीओपी गुना युवराज सिंह चौहान के नेतृत्‍व में बमौरी थाना प्रभारी उपनिरीक्षक गजेन्‍द्र सिंह बुन्‍देला एवं उनकी टीम को लगाया गया । पुलिस द्वारा प्रकरण में तत्‍परता से कार्यवाही की गई और प्रकरण के आरोपियों की तलाश में सघन दविशें दी गईं और घटना के चंद घंटों बाद ही दो आरोपियों प्रताप पुत्र कन्‍हैयालाल धाकड उम्र 35 साल एवं हनुमत सिंह पुत्र कन्‍हैयालाल धाकड उम्र 25 साल निवासीगण ग्राम धनोरिया को गिरफ्तार कर लिया गया तथा प्रकरण में गहन विवेचना करते हुये शेष आरोपियों की लगातार तलाश की गई, जिसके परिणामस्‍वरूप 03 जुलाई को प्रकरण के तीसरे आरोपी श्‍याम पुत्र विजय सिंह धाकड उम्र 35 साल निवासी ग्राम धनोरिया सहित दो महिला आरोपियों अवंती बाई पत्नि कन्‍हैयालाल धाकड उम्र 50 साल व सुदामा बाई पत्नि प्रताप धाकड उम्र 37 साल निवासीगण ग्राम धनोरिया को और गिरफ्तार कर लिया गया एवं गिरफ्तारशुदा सभी आरोपियों को आज माननीय न्‍यायालय पेश किया गयाजहां से महिला आरोपियों सहित दो आरोपियों श्‍याम धाकड व हनुमत धाकड को जेल भेज दिया गया एवं आरोपी प्रताप धाकड को पुलिस रिमाण्‍ड पर दिया गया है । 

सम्मोहित कर नगदी, जेबर ऐंटने वाली अंतर्राज्‍यीय गेंग का कोतवाली पुलिस ने किया पर्दाफाश

गुना । कोतवाली पुलिस द्वारा चार ऐसे ठगों को गिरफ्तार किया गया है, जो शहर में 54 वर्षीय एक महिला को सम्मोहित कर उसके लाखों के सोने के जेबर लेकर चंपत हो गये थे । उल्लेखनीय है कि 30 जून को फरियादिया नीना पत्नि राजेश तिवारी निवासी सिंगटावर के पास द्वारा कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी कि 30 जून के दोपहर को वह शॅपिंग के लिये बाजार गई हुई थी कि बाजार की मुरली धोकल गली में उसके पास एक लडका आया और बोला कि उसने चार दिनों से कुछ नहीं खाया है, उस लडके की हालत को देखकर उसने उसे कुछ खा लेने के लिये 100 रूपये दिये, तो उस लडके ने अपने हाथ में लिया काले रंग का कपडे का थैला यह कहकर उसे पकडा दिया कि वह 100 रूपये जेब में रख लूं । जब उससे उसके थैले में क्‍या होने के संबंध में पूछा तो वह बोला खुद ही देख लो, जब उसने उसके थैले में हाथ डलकर देखा तो उसमें कपडे की पोटली में कागज के वंडल जैसे रखे हुये थे, उस पोटली को छूने के बाद जैसे ही उसने अपने चेहरे से हाथ लगाया तो उसे कुछ होने लगा, इसके बाद उस लडके के कहे अनुसार उसने अपने पहने हुये गहने हीरे वाली सोने की अंगूठी, सोने का एक मंगल सूत्र व सोने की दो अंगूठी उस लडके को दे दिये । बदले में वह लडका एक रूमाल की पोटली उसे देकर वहां से चला गया, कुछ ही आगे और दो लडके उसे मिले, फिर वह तीनों वहां से चले गये । जब उसने लडके द्वारा दी गई पोटली को खोलकर देखा तो उसमें पत्‍थर के टुकडे भरे हुये थे । फिर उन लडकों को बाजार में बहुत तलाश किया लेकिन वह कहीं नहीं मिले । जिसकी रिपोर्ट पर से थाना कोतवाली गुना में अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया । कोतवाली टीआई मदन मोहन मालवीय अपनी टीम के साथ धोखाधडी की उक्त घटना करने वाले अज्ञात बदमाशों की तलाश में सक्रियता से जुट गये । पुलिस द्वारा बदमाशों की शहर में सघन तलाश की गई और इसमें पुलिस के तकनीकी संसाधनों का उपयोग करते हुये शहर में महिला को सम्‍मोहित कर उसके साथ ठगी करने वाले बदमाशों का पता लगा लिया गया एवं आरोपियों के संबंध में गत् दिवस मुखबिर से मिली सूचना पर तत्‍परता से कार्यवाही करते हुये धोखाधडी की उक्‍त रिपोर्ट के मात्र 48 घंटों के भीतर ही अंतर्राज्‍यीय चार शातिर ठगों को शिवपुरी जिले के पडोरा के पास से बारदात में प्रयोग की गई स्विप्‍ट कार सहित दबोच लिया गया । पुलिस की पकड़ में आये बदमाशों ने पूछताछ पर अपने नाम  शिवा पुत्र रमेश सोलंकी उम्र 23 साल निवासी साबदा कॉलोनी नई दिल्‍ली, संजय पुत्र रामलाल सोलंकी उम्र 28 साल निवासी शिव विहार कॉलोनी नई दिल्‍ली, दीपक पुत्र श्‍यामलाल सोलंकी उम्र 22 साल निवासी शिव विहार कॉलोनी नई दिल्‍ली एवं गोविन्‍द पुत्र उकराम राठौर उम्र 47 साल निवासी रघुवीर नगर नई दिल्‍ली के होना बताये, जिनसे पुलिस द्वारा गुना के सदर बाजार में महिला के साथ हुई ठगी के संबंध में पूछने पर उनके द्वारा ठगी की उक्‍त बारदात करना तो स्‍वीकार किया और साथ ही दिनांक 25 जून को भोपाल में एक वृद्ध महिला को सम्‍मोहित कर उससे सोने के 04 कंगन, सोने की 01 चैन व सोने की 02 अंगूठी तथा भोपाल में ही दिनांक 29 जून 2022 को एक और वृद्ध महिला को सम्‍मोहित कर उससे सोने के 04 कंगन व सोने की 02 अंगूठी धोखाधडी पूर्वक लेकर भागने की बारदातें और करना बताया गया । आरोपियों द्वारा भोपाल में भी धोखाधडी की बारदातें करना बताने पर उक्‍त घटनाओं की जानकारी लेने पर ज्ञात हुआ कि 25 जून को आरोपियों द्वारा भोपाल के बैरागढ में  50 वर्षीय महिला मीना विनवानी को सम्‍मोहित कर उसके पहने हुये सोने के जेबर 04 कंगन, 01 चैन व 02 अंगूठी धोखाधडी पूर्वक लेकर जाने के मामले को लेकर थाना बैरागढ में अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 420, 34 भादवि एवं 29 जून को न्‍यू मार्केट टी.टी. नगर भोपाल में 60 वर्षीय वृद्ध महिला सरिता उपाध्‍याय को सम्‍मोहित कर उससे सोने की 04 चूडी व सोने की 02 अंगूठी धोखाधडी पूर्वक हडपने के मामले को लेकर थाना टी.टी. नगर में अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध धारा 420 भादवि के तहत प्रकरण पंजीवद्ध होना पाये गये हैं । पुलिस द्वारा धोखाधडी के उपरोक्‍त मामलों में पकडे गये चारों आरोपियों के कब्‍जे से गुना कोतवाली के प्रकरण में हीरे वाली सोने की 01 अंगूठी, सोने का 01 मंगल सूत्र व सोने की 02 अंगूठी कीमती करीबन 1.80 लाख रूपये, बैरागढ भोपाल के प्रकरण में सोने के 04 कंगन, सोने की 01 चैन व सोने की 01 अंगूठी कीमती करीबन 1.70 लाख रूपये एवं टीटी नगर भोपाल के प्रकरण में सोने की 04 चूडी व सोने की 02 अंगूठी कीमती करीबन 1.50 लाख रूपये सहित धोखाधडी की उक्‍त बारदातों में प्रयोग की गई स्विप्‍ट कार क्रमांक डीएल 1जेडडी 0723 कीमती करीबन 05 लाख रूपये को जप्‍त किया गया है । गुना कोतवाली पुलिस द्वारा आरोपियों से पूछताछ कर माननीय न्‍यायालय पेश किया गया, जहां से उनहें जेल भेज दिया है । इस प्रकार गुना पुलिस द्वारा गुना एवं भोपाल में महिलाओं को सम्‍मोहित कर लाखों के जेबर ऐंठने वाले गिरोह का मात्र 48 घंटों के भीतर ही पर्दाफास कर उनके कब्‍जे से करीबन 05 लाख के जेबर व इन घटनाओं में प्रयोग की गई स्विप्‍ट कार सहित कुल 10 लाख का मसरूका बरामद करने में उल्‍लेखनीय कामयाबी हासिल की गई है । भोपाल में धोखाधडी के दो प्रकरणों के आरोपियों के गुना मे पकडे जाने की सूचना भोपाल पुलिस को दी गई है, जिनमे भोपाल पुलिस द्वारा अग्रिम कार्यवाही की जावेगी । पुलिस की आमजन से अपील है कि अपने आसपास समाज में रहने वाले वृद्धजनों का ध्यान रखें और उनसे कोई अनजान व्यक्ति बातें करते या उनको कहीं एकांत में ले जाते दिखाई दे तो उनकी संभव मदद करें एवं इस बात की पुलिस को तत्काल सूचना दें । कोतवाली़ थाना पुलिस की इस महत्वपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी मदनमोहन मालवीय, उपनिरीक्षक रविनंदन शर्मा, सउनि भूपेंद्र सिंह सेंगर, प्रधान आरक्षक अमित कलावत, आरक्षक धीरेंद्र गुर्जर, आरक्षक संजय जाट, आरक्षक नीलेश रघुवंशी, आरक्षक ओमशरण कुशवाह एवं आरक्षक राजेश की भूमिका रही है ।

नए एसपी का चैन स्नैचर ने किया स्वागत शहर के सौलत गली में हुई चेन स्नेचिंग की घटना अज्ञात बदमाशों ने दिया घटना को अंजाम

गुना । नए एसपी का स्वागत करते हुए अज्ञात बदमाशों ने विगत रात्रि चैन स्नैचिंग की वारदात को अंजाम दिया । घटना 28 मई की रात्रि 11:00 बजे की बताई जा रही है जहां अज्ञात बदमाशों द्वारा एक महिला के गले से चैन स्नैचिंग कर वारदात अंजाम दिया । हालांकि पूरा घटनाक्रम सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है जिसके बाद से पुलिस बदमाशों की तलाश में जुट गई । मामला सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र की सौलत गली का है जहां शनिवार की रात को मोटरसाइकिल सवार अज्ञात बदमाशों ने चैन स्नैचिंग की वारदात को अंजाम दिया इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया वही फटेज के आधार पर पुलिस बदमाशों की तलाश में जुट गई है ।

कोतवाली पुलिस की सक्रियता से आरोपियों के मंसूबे पर फिरा पानी अपहरण की कोशिश हुई नाकामयाब, फर्नीचर व्यवसाई का अपहरण कर परिजनों से फिरौती में मांगने वाले थे 1 करोड़ रुपए

गुना । कोतवाली पुलिस की सक्रिय कारवाही से एक और बड़े अपराध घटित होने से पहले ही आरोपियों को पुलिस ने अपने चंगुल में ले लिया इसी के फलस्‍वरूप 2 अप्रैल की रात्रि में शहर के एक प्रतिष्ठित फर्नीचर व्यवसायी का अपहरण करने में बदमाश नकामयाब रहे और अपहरण करने के इस असफल प्रयास के मामले में सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने में कोतवाली पुलिस ने कामयाबी हासिल की । फरियादी अमित लांबा द्वारा कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी जिसमें उनके द्वारा बताया गया कि वह 2 अप्रैल की रात जब घूमने के लिए निकले तो रास्ते में बड़े पुल के पास एक कार उनके पास आकर रुकी कार में बैठे व्यक्ति ने एक पता पूछने के लिए उन्हें रोका और उसी समय कार से अन्य लोगों ने उतर कर उनको जबरदस्ती पकड़कर अपहरण करने का प्रयास किया लेकिन वहां मौजूद आम जनता और फरियादी की हिम्मत दिखाने के कारण अपराधियों के मंसूबे नाकामयाब रहे और अपराधी घटनास्थल से भाग निकले । पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सीएसपी उआकाश अमलकर के मार्गदर्शन एवं कोतवाली टीआई मदन मोहन मालवीय के नेतृत्व में  विशेष टीम गठित की गई । पुलिस टीम द्वारा प्रकरण में तत्परता से कार्यवाही करते हुए आरोपियों की पतारसी में तकनीकी संसाधनों का उपयोग करने पर आरोपियों के बिहार के बेगूसराय एवं समस्तीपुर जिले के होना ज्ञात होने पर गुना पुलिस ने आरोपियों के संभावित स्थानों पर बेगूसराय व समस्तीपुर में जगह जगह दबिशें दी इसी बीच तकनीकी संसाधनों से आरोपियों के झांसी से शिवपुरी तरफ जाना ज्ञात होने पर पुलिस टीम आरोपियों का पीछा करते हुए शिवपुरी जिले में दिनारा के पास हाईवे पर घेराबंदी की तो बदमाशों ने अपनी कार से भागने का प्रयास किया गया जिन्हे पुलिस टीम द्वारा घेरकर पकडा एवं कार में सवार लोगों को अभिरक्षा में लेकर उनके नाम पता पूंछे जाने पर जिन्होंने अपने नाम शुभम ओझा पुत्र महेन्द्र ओझा उम्र 29 साल निवासी रसीद कालोनी ,अंकेश ओझा पुत्र विनोद ओझा उम्र 26 साल निवासी रसीद कालोनी ,विवेक कुमार पुत्र विनोद कुमार उम्र 22 साल निवासी रोड दलसिंह सराय जिला समस्तीपुर बिहार, आकाश पुत्र अशोक यादव उम्र 19 साल निवासी पछबाडा जिला बेगूसराय बिहार, एवं दीपक पुत्र मदन कुमार माहतो उम्र 19 साल निवासी रसीदपुर जिला बेगूसराय बिहार के होना बताए एवं जिनसे दिनांक 2 अप्रेल की रात में गुना शहर में अपहरण का प्रयास के मामले में पूंछताछ करने पर जिनके द्वारा उक्त घटना करना स्वीकार किया । जिनकी कार की तलाशी लेने पर कार से एक 32 बोर की देशी पिस्टल मय तीन जिंदा राउण्ड, एक रस्सी,  तरल नशीला पदार्थ एवं कार की नंबर प्लेट क्र. MP04CJ3968 मिली । पुलिस द्वारा सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर वर्ना कार तथा उसमें मिली उक्त सभी सामग्री को विधिवत जब्त किया गया । आरोपियों ने पूछताछ पर कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं जिनमें आरोपी शुभम ओझा ने बताया कि वह फर्नीचर व्यवसायी अमित लांबा के शोरूम पर फर्नीचर बनाने का काम कर चुका है एवं उसके द्वारा माह अक्टूबर 2021 में एक हुंडई वरना कार किस्तों पर खरीदी थी  जिसके कारण उस पर काफी कर्ज हो गया था । इस कर्ज की भरपाई के लिए उसने अपने बेगूसराय में रहने वाले रिश्तेदार व उसके दोस्तों के साथ आपस में मिलकर क्राइम पेट्रोल की तर्ज पर व्यवसायी के अपहरण की साजिश रची और  वह सभी आपस में एक दूसरे से मोबाइल कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संपर्क में थे । आरोपियों ने अपहरण से पूर्व 15 दिन तक फर्नीचर व्यवसायी की रैकी भी की थी अपहरण के लिए अन्य आरोपी गणों को बिहार के बेगूसराय व समस्तीपुर से बुलाया था जो ट्रेन से गुना पहुंचे थे और रैकी अनुसार मौका पाकर दिनांक 02 अप्रैल की रात्रि में अमित लांबा को बड़े पुल के पास पकड कर अपहरण करने का प्रयास किया लेकिन अपहरण करने में सफल नही हो सके । अपहरण के इस काम में सफल होने पर वह अमित लांबा के परिजनों से फिरौती के रूप में 1 करोड़ रुपये की मांग करने वाले थे । प्रकरण में मुख्य आरोपी शुभम ओझा का साला विवेक कुमार अभी फरार है जिसके पीछे पुलिस टीम लगी हुई है और जिसे शीघ्र ही गिरफ्तार किया जाएगा । इस कार्यवाही  में टीआई कोतवाली मदन मोहन मालवीय, उप निरीक्षक राम शर्मा, उप निरीक्षक रविनंदन शर्मा, उप निरीक्षक अभिषेक तिवारी, सायबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक मसीह खान, सीसीटीवी प्रभारी सउनि. भूपेन्द्र सिंह सेंगर, प्रधान आरक्षक अजेन्द्र पाल, आरक्षक संजय जाट, आरक्षक नरेन्द्र रघुवंशी, आरक्षक धीरेन्द्र गुर्जर, आरक्षक जितेन्द्र जाटव, आरक्षक आदित्य कौरव, आरक्षक राजीव रघुवंशी, आरक्षक कुलदीप भदौरिया, आरक्षक नीलेश रघुवंशी, आरक्षक ओम शरण कुशवाह, आरक्षक राजेन्द्र, आरक्षक राजेश, आरक्षक राजू, आरक्षक माखन चौधरी एवं आरक्षक चालक रामवीर रजक की भूमिका रही है ।

साईं पैलेस के पीछे दो पक्षों में हुआ विवाद ,प्लाट में छज्जे एवं रास्ते को लेकर हुआ था विवाद, विवाद के चलते हुई फायरिंग

गुना । सिटी कोतवाली अंतर्गत साईं पैलेस के पीछे दो पक्षों में हुए विवाद एवं हवाई फायर के मामले में गुना पुलिस द्वारा तत्परता से कार्रवाई करते हुए सभी आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार कर लिया गया है। उल्लेखनीय है कि थाना कोतवाली क्षेत्र गुना में होटल साईं पैलेस के पीछे एक प्लाट में छज्जे एवं रास्ते को लेकर सुधीर अग्रवाल निवासी गुना एवं संगीता लांबा निवासी गुना के बीच विवाद था, इस विवाद को लेकर संगीता लांबा की तरफ से अशोकनगर से 7-8 सरदार लोग  26 मार्च  को शाम करीबन 5-6 बजे प्लाट पर पहुंचे और सुधीर अग्रवाल पक्ष के लोगों पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया।इसी बीच अग्रवाल पक्ष की ओर से पंकज गुप्ता नामक व्यक्ति द्वारा अपने लाइसेंसी हथियार से हवाई फायर किया गया। इस मामले के पुलिस अधीक्षक  राजीव कुमार मिश्रा के संज्ञान में आने पर उनके द्वारा तत्काल पुलिस फोर्स मौके पर भेजा गया, पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और झगड़े को शांत किया जाकर अशोकनगर से आए हमलावरों को पकड़ लिया गया, साथ ही हवाई फायर करने वाले पंकज गुप्ता पुत्र राजेंद्र गुप्ता उम्र 45 साल निवासी गोविंद गार्डन कैंट गुना को भी बंदूक सहित पकड़ लिया। उक्त घटना को लेकर फरियादी सुधीर अग्रवाल पुत्र हरिनारायण अग्रवाल उम्र 46 वर्ष निवासी लक्ष्मीगंज गुना की रिपोर्ट पर से आरोपीगण 1-तस्वीर पुत्र सरदार सिंह, 2-हरि सिंह पुत्र गुरु चरण सिंह, 3-अंग्रेज सिंह पुत्र ध्यान सिंह, 4-सुखदीप सिंह पुत्र हरजिंदर सिंह, 5-जसवीर सिंह पुत्र सरदार सिंह, 6-हरदीप सिंह पुत्र अमरजीत सिंह निवासीगण अशोकनगर एवं 7-फलक थापर पुत्र हेमंत कुमार थापर निवासी हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, भुल्लनपुरा गुना के विरुद्ध थाना कोतवाली गुना में अपराध क्रमांक 184/2022 धारा 452, 323, 294, 506, 147, 148, 149 भादवि के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया है इसके अलावा हवाई फायर करने वाले पंकज गुप्ता के विरुद्ध भी धारा 336 आईपीसी के तहत कार्यवाही की गई है। इस प्रकार पुलिस द्वारा तत्परता से कार्रवाई कर मामले को शीघ्र नियंत्रित कर लिया गया, यदि पुलिस समय पर नहीं पहुंचती तो निश्चित ही एक बड़ी घटना कारित हो सकती थी।

ईटीपी में उल्‍लेखित मात्रा से अधिक मात्रा में खनिज रेत का उत्‍खनन व परिवहन करने के प्रकण में कलेक्‍टर ने लगाया डम्‍पर मालिक के विरूद्ध 5 लाख रूपये का जुर्माना

गुना । कलेक्‍टर फ्रेंक नोबल ए. द्वारा निर्धारित मात्रा से अधिक खनिज रेत के परिवहन के एक प्रकरण में वाहन मालिक के विरूद्ध 5 लाख रूपये का जुर्माना अधिरोपित किया गया है । खनिज अधिकारी द्वारा प्रस्‍तुत प्रतिवेदन के आधार पर 22 दिसंबर 2021 को बांके बिहारी के सामने दुनाई एबी रोड गुना पर खनिज रेत के अवैध उत्‍खनन/ परिवहन की खनिज निरीक्षक गुना द्वारा आकस्मिक जांच की गई। जांच के दौरान वाहन डम्‍पर से खनिज रेत अवैध मात्रा 20.61 घनमीटर रेत से संबंधित अभिवहन पारपत्र की मांग की गयी। किंतु चालक द्वारा रॉयल्‍टी मात्र 11.36 घनमीटर का पारपत्र पेश किया गया। उक्‍त डम्‍पर (10 पहिया) ओव्‍हरलोड था एवं प्रस्‍तुत रॉयल्‍टी की समय अवधि समाप्‍त हो गयी थी। जिस पर वाहन मालिक अनावेदक जितेन्‍द्र शर्मा पुत्र मोहनकुमार शर्मा निवासी झांसी तिराहा तुलसी नगर जिला शिवपुरी के विरूद्ध मध्‍यप्रदेश रेत (खनन परिवहन, भण्‍डारण एवं व्‍यापार) नियम 2019 में उल्‍लेखित प्रावधानों के अनुसार वाहन मय खनिज जप्‍त कर रक्षित निरीक्षक कैंट गुना की सुपुर्दगी में रखवाया गया। खनि अधिकारी द्वारा प्रस्‍तुत प्रतिवेदन के आधार पर वाहन स्‍वामी को विधिवत कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। प्रकरण में संलग्‍न रॉयल्‍टी की छायाप्रति अनुसार मौके पर वाहन 9.25 घनमीटर रेत ओव्‍हरलोड पाई गयी। इस संबंध में वाहन मालिक द्वारा अपने जवाब में कोई तर्क या कोई साक्ष्‍य व दस्‍तावेज प्रस्‍तुत नही किया गया।संपूर्णं प्रकरण में कलेक्‍टर फ्रेंक नोबल ए. द्वारा प्रस्‍तुत प्रतिवेदन व दस्‍तावेजों व नियमों का अवलोकन करने व प्रकरण में की गयी समीक्षा पश्‍चात प्रकरण में ईटीपी में उल्‍लेखित मात्रा से अधिक मात्रा में खनिज रेत का उत्‍खनन व परिवहन किया जाना पाये जाने के फलस्‍वरूप मध्‍यप्रदेश रेत (खनन, परिवहन, भण्‍डारण एवं व्‍यापार) नियम 2019 के अध्‍याय 10 नियम 20 के उपनियम (2) में उल्‍लेखित प्रावधान अनुसार वाहन डम्‍पर के स्‍वामी जितेन्‍द्र शर्मा पुत्र मोहनकुमार शर्मा निवासी झांसी तिराहा तुलसी नगर जिला शिवपुरी के विरूद्ध 5 लाख रूपये का जुर्माना अधिरोपित करने आदेश जारी किए हैं। जारी आदेश में खनि अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि वाहन मालिक से अधिरोपित राशियां जमा करावें तत्‍पश्‍चात जप्‍तशुदा वाहन डम्‍पर को मय खनिज यदि अन्‍य किसी प्रकरण में वाहन की आवश्‍यकता न हो तो विधिवत मुक्‍त कराने की कार्यवाही करें। 

जंजाली चौकी प्रभारी को निलंबित कर किया लाइन अटैच, फरियादी से गाली गलौज सीएम हेल्पलाइन की शिकायत वापस लेने के लिए बना रहे थे दबाव सोशल मीडिया पर हुआ वीडियो वायरल

गुना । पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा ने जंजाली चौकी प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर लाइन अटैच किया है प्राप्त जानकारी के अनुसारजंजाली चौकी प्रभारी उप निरीक्षक कमलेश गौड का सीएम हेल्पलाइन के एक फरियादी को गाली गलोंच एवं बद्तमीजी कर शिकायत वापस लेने के लिए दबाब डालने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है । फरियादी राधौगढ थाना क्षैत्र के बलरामपुरा ग्राम का निवासी है जिसने अपनी बहन के साथ छेडखानी की शिकायत सीएम हेल्पलाइन पर की गई थी, उक्त शिकायत को बंद कराने के लिए उप निरीक्षक कमलेश गौड फरियादी पर अनुचित तरीके से वीडियो में दबाब बनाते नजर आ रहे हैं, जो सर्वथा अनुचित है । सीएम हेल्पलाइन के फरियादी के साथ इस तरह की कार्यवाही अनुशासनहीनता और घोर लापरवाही की श्रैणी में आती है, इसलिए पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा द्वारा इस पर शीघ्र संज्ञान लेते हुए उप निरीक्षक कमलेश गौड चौकी प्रभारी जंजाली को  तत्काल प्रभाव से निलंबित कर पुलिस लाइन संबंद्ध कर दिया गया है एवं इसकी जांच एसडीओपी राधौगढ को दी गई है, जांच उपरांत अग्रिम विभागीय कार्यवाही आदेशित की जावेगी और एसडीओपी राधौगढ को बताया गया कि फरियादी की जो भी शिकायत है उसके निराकरण के लिए फरियादी को समक्ष बुलाकर उसकी शिकायत का शीघ्र निराकरण करवाया जाएगा । 

बर्खास्त आरक्षक पर यौन शोषण का मामला दर्ज, कोतवाली पुलिस ने घेराबंदी कर आरक्षक को किया गिरफ्तार

गुना । कोतवाली थाना पुलिस द्वारा एक महिला की शिकायत पर से पुलिस महकमे में सेवा से बर्खास्त आरक्षक पर एससी/एसटी एक्ट सहित धारा 450, 376(2)(एन), 376(1), 366, 506 के तहत मामला दर्ज कर विवेचना में लिया साथ ही बर्खास्त आरक्षक को घेराबंदी कर गिरफ्तार किया ।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 15 मार्च को 25 वर्षीय एक महिला फरियादिया द्वारा गुना कोतवाली थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी कि वर्ष 2017 में कोतवाली में पदस्थ आरक्षक नीरज जोशी (हाल बर्खास्तशुदा आरक्षक) फरियादिया के भाई की तलाश मे उसके घर आया ।  घर पर फरियादिया को अकेला पाकर आरक्षक नीरज द्वारा फरियादिया को डरा धमका कर एवं बदनाम करने की धमकी देकर उसके साथ जबरदस्ती बुरा काम (बलात्कार) किया, इसके बाद उससे शादी का दिलासा देकर उसके द्वारा आये दिन फरियादिया के घर पर अथवा घर से बाहर ले जाकर उसका शारीरिक शोषण किया गया । इस बीच में फरियादिया गर्भवती हुई और नीरज जोशी से उसे 06 माह की एक बच्ची भी है । अब नीरज जोशी उसे छोडकर भाग गया है । नीरज जोशी पूर्व से भी शादीशुदा है और जिसने फरियादिया को धोखे में रखकर उसके साथ गलत  काम किया गया है । फरियादिया की रिपोर्ट पर से आरोपी बर्खास्तशुदा आरक्षक नीरज जोशी उर्फ टोनी के विरुद्ध थाना कोतवाली मैं अपराध से संबंधित तमाम धाराओं मैं मामला दर्ज किया गया । आरोपी नीरज टोनी के शादीशुदा होने के बाद भी युवती को डरा धमका कर एवं उससे शादी करने का झांसा देकर पिछले 05 वर्षों से उसका शारीरिक शोषण कर मां बनाये जाने के इस मामले को गुना पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा द्वारा संवेदनशीलता से लिया और इस गंभीरतम मामले के आरोपी नीरज टोनी को तत्काल गिरफ्तार करने हेतु थाना प्रभारी कोतवाली  मदन मोहन मालवीय के नेतृत्व में विशेष टीम लगाई गई । टीम द्वारा आरोपी की सघनता से तलाश की गई और इसी बीच आरोपी को कैन्ट थाना क्षैत्र से घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया गया एवं पुलिस द्वारा जिसके डीएनए जांच की कार्यवाही भी संपन्‍न की जा रही है ।