नाबालिग बालिका के साथ दुष्‍कर्म करने वाले आरोपी को न्‍यायालय ने सुनाई शेष प्राकृतिक जीवनकाल तक आजीवन कारावास की सजा

भोपाल ।  अठारवें विशेष सत्र न्‍यायालय पॉक्‍सो एक्‍ट भोपाल के न्‍यायालय ने आरोपी बब्‍लू उर्फ बब्‍लेश मीणा नाबालिग बालिका के साथ दुष्‍कर्म करने के आरोप में दोषी पाते हुए  5एल/6 पाक्‍सो एक्‍ट के अंतर्गत शेष प्राकृतिक जीवनकाल तक आजीवन कारावास एवं 1000रू के अर्थदंड, धारा 366 भादवि में 10 वर्ष सश्रम कारावास एवं 5,000रू के अर्थदंड, धारा 363 भादवि में 7 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 5000 रू के अर्थदंड से द‍ंडित किया।  उक्‍त प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक टी.पी. गौतम एवं श्रीमती सरला कहार  द्वारा की गयी। मीडिया प्रभारी सुश्री दिव्‍या शुक्‍ला ने बताया कि  दिनांक 22.06.2019 को पीडिता के माता-पिता गांधीनगर मार्केट आये थे तथा घर पर पीडिता एवं उसकी बहनें थी। मार्केट से रात करीब 8:30 बजे जब पीडिता के माता-पिता घर वापस पहुँचे तो पीडिता की बहनों ने बताया कि पीडिता घर पर नहीं है, तब पीडिता की आस-पडोस में खोजबीन की गई किंतु पीडिता नहीं मिली जिस पर पीडिता के पिता की रिपोर्ट पर थाना गांधीनगर में अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान दिनांक 26.06.2019 को पीडिता गांधीनगर थाने में आई तथा उसने बताया कि मोहल्‍ले में ही रहने वाले आरोपी बब्‍लू मीणा द्वारा पीडिता को जबरदस्‍ती बाईक पर बैठाकर होशंगाबाद बस स्‍टेंड के पास एक मंदिर में ले गया वहां एक घंटे पीडिता को बिठा रखा फिर उसकी बाईक से बिट्ठल मार्केट में उसके भतीजे के घर ले गया जहां आरोपी द्वारा पीडिता के साथ गलत काम (बलात्‍कार) किया। दिनांक 26.06.19 को बिट्टल मार्केट भोपाल से भागकर पीडिता अपने घर आई तथा पुलिस थाने पहुँचकर अपने साथ घटित घटना की जानकारी दी जिसके उपरांत आरोपी के विरूद्ध विवेचना पूर्ण कर न्‍यायालय के समक्ष अभियोग पत्र प्रस्‍तुत किया गया। न्‍यायालय द्वारा अभियोजन के तर्कों से सहमत होते हुये आरोपी बब्‍लू उर्फ बब्‍लेश मीणा को कठोर कारावास से दंडित किया गया। 

चिन्हित प्रकरण में देशी पिस्‍टल रखने वाले आरोपी को हुआ 1 वर्ष छ:माह का सश्रम कारावास

इंदौर । चिन्हित मामले में देशी पिस्‍टल रखने वाले आरोपी को जेएमएफसी सतीश वसुनिया के न्यायालय ने निर्णय पारित करते हुए आरोपी दिलावर सिंह पिता लक्ष्‍मण  सिंह को दोषी पाते हुए 1 वर्ष छ:माह का सश्रम कारावास की सजा सुनाई है । लोक अभियोजन अधिकारी संजीव श्रीवास्‍तव ने बताया कि दिनांक 1 जून 2020 को थाना पर नियुक्‍त उपनिरीक्षक को मुखबिर से सूचना मिली कि नेमावर रोड पर थैली में कट्टा व पिस्‍टल लेकर एक व्‍यक्ति बेचने की फिराक में खडा है। मुखबिर की सूचना पर विश्‍वास कर पंचान साक्षियों को तलब किया एवं बताये स्‍थान पर मय फोर्स गये जहॉ पर एक व्‍यक्ति लखानी फेक्‍ट्री के सामने नेमावर रोड पर हाथ में थैली लिये हुए था जो पुलिस को देखकर भागने लगा । घेराबंदी कर पुलिस ने पकडा । नाम पता पूछने पर अपना नाम दिलावर सिंह जिला बडवानी का होना बताया । हाथ में रखी थैली की तलाशी लेने पर उसके अंदर 16 देशी पिस्‍टल  एवं जिन्‍दा कारतूस दिखे । जिनके संबंध में लाइसेंस पूछने पर नहीं होना बताया । मौके पर ही पिस्‍टलों को जप्‍त किया और आरोपी को गिरफ्तार कर वापस थाना आकर आरोपी के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया। बाद विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्‍यायालय के समक्ष पेश किया गया। प्रकरण में अभियोजन की ओर से पैरवी सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी नदीम अहमद  द्वारा की गई ।

आदतन आरोपी मंजीत रघुवंशी पर रासुका की कार्यवाही,पुलिस ने गिरफ्तार कर केंद्रीय जेल भेजा

गुना ।   शहर के आदतन आरोपी मंजीत रघुवंशी पुत्र हरि सिंह रघुवंशी निवासी गुलाबगंज, केंट गुना को रासुका के तहत गिरफ्तार कर ग्वालियर जेल दाखिल किया गया है।
 पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा द्वारा बताया कि आदतन बदमाश मंजीत रघुवंशी, जिसके विरूद्ध थाना केंट, कोतवाली, बजरंगढ़ में मारपीट, शराब के लिये पैसे मांगना, हत्या का प्रयास, अवैध हथियार रखने, चोरी सहित कुल 17 प्रकरण दर्ज हैं, ऐसे आरोपी को समाज में बेखौफ नहीं घूमने दिया जावेगा, इसके लिये पुलिस द्वारा आरोपी मंजीत रघुवंशी पर सख्त कार्यवाही की गई है। आरोपी मंजीत रघुवंशी के आपराधिक इतिहास को मद्देनजर रखते हुये उसकी आपराधिक गतिविधियों पर रोक लगाये जाने हेतु माननीय न्यायालय जिला मजिस्ट्रेट गुना द्वारा अपने आदेश दिनांक 27 सितंबर के द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम 1980 की धारा 3(2) के अंतर्गत निरोधादेश का आदेश पारित किया गया, जिसके अनुक्रंम में केंट थाना पुलिस द्वारा आरोपी मंजीत रघुवंशी की सघनता से तलाश की गई और जिसे एनएसए आदेश दिनांक 27 सितंबर को ही गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया, जहां से उसे केंद्रीय जेल ग्वालियर भेज दिया गया है।

जिले को 73 बीट में बांटकर पुलिस व राजस्‍व अधिकारी तैनात, संभागायुक्‍त के निर्देश पर की गयी तैनाती, अपराधों पर नियंत्रण, प्रत्‍येक बुधवार को बीट में बैठकर करेंगे आमजन की समस्‍याओं का निराकरण

गुना । आयुक्‍त ग्‍वालियर संभाग द्वारा जिले में ली गयी समीक्षा बैठक के दौरान दिये गये निर्देशों पर अमल करते हुए कलेक्‍टर फ्रेंक नोबल ए तथा पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा द्वारा जिले को 73 बीटों में बांटकर प्रत्‍येक बीट में पृथक-पृथक पुलिस व राजस्‍व अधिकारी तैनात किये गये हैं। राजस्‍व व पुलिस का संयुक्‍त दल अपने-अपने क्षेत्र में अपराधों के नियंत्रण में प्रभावी कार्यवाही करेंगे। इससे न केवल अपराधों पर रोक लगेगी, बल्कि क्षेत्र में कानून व्‍यवस्‍था की स्थिति पर भी प्रभावी नियंत्रण बना रहेगा। प्रत्‍येक बीट में एक दरोगा, सहायक दरोगा तथा नगरीय क्षेत्र में नगर पालिका तथा ग्रामीण क्षेत्र में राजस्‍व विभाग के अधिकारी तथा पटवारी, सचिव आदि सम्मिलित रहेंगे। जिन 73 बीटों में जिले को व्‍यवस्थित किया है उनमें कुशमौदा, गुलाबगंज कैंट, घोसीपुरा, नानाखेड़ी, पगारा, सदर बाजार, ख्‍यावदा चौराहा, महावीरपुरा, जज्‍जी बस स्‍टेण्‍ड, हड़डी मिल व श्रीराम कालोनी, बजरंगगढ़, चलोरी बीट, छीपोन, बरखेडा़गिर्द, म्‍याना, मगराना व उकावद, भदौरा, उमरी, खैरीखता, साइनबोर्ड, डोबरा मगरोड़ा, पाडोन, कपासी, सिरसी, मारकीमहू, विटठलपुर, कस्‍बा, राघौगढ़, साडा बीट, खैराई बीट, रामनगर, आंवन, पीपलखेडी, डोंगर, पालिका के नाम शामिल हैं। आरोन में कस्‍बा आरोन पूर्वी भाग, कस्‍बा आरोन पश्चिमी भाग, रामपुर बीट, रिजोदा, शहरोख, बरखेडाहाट, पनवाडीहाट, धरनावदा, पगारा, गादेर, रूठियाई, टोडी, झागर बीट शामिल हैं। इसी प्रकार चांचौडा क्षेत्र में उमरथाना, चांचौडा, कालापीपल, बीनागंज, पेंची, बरखेडा, तेलीगांव, मालोनी, कुंभराज में कस्‍बा कुंभराज, भमावद, गोरियाखेडी, देहात उपरी, जामनेर, डोंगर, सालोट, बरसत, लक्ष्‍मणपुरा, मृगवास, बटावदा, सानई, बांसहेडा, कस्‍बा मक्‍सूदनगढ उत्‍तरी भाग, कस्‍बा मक्‍सूदनगढ पश्चिम भाग, बमोरी, विशनवाडा, रामपुर, मुहालकालोनी के नाम शामिल हैं। कलेक्‍टर द्वारा निर्देश दिये गये हैं कि समस्‍त राजस्‍व कर्मचारी, पंचायत कर्मचारी, सप्‍ताह में बुधवार को अपने बीट में उपस्थित होकर बीट प्रभारी व पुलिस कर्मचारियों के साथ जनसामान्‍य की समस्‍याओं को निराकरण करने की कार्यवाही करेंगे। अनुभाग स्‍तर पर अनुविभागीय अधिकारी नोडल अधिकारी होंगे। जिले की संपूर्णं व्‍यवस्‍था के प्रभारी अपर जिला दण्‍डाधिकारी जिला गुना रहेंगे। 

महिला सुरक्षाकर्मी के साथ पुलिसकर्मी ने की मारपीट, नगर निरीक्षक को कार्यवाही हेतु सौंपा आवेदन

गुना ।  जिला चिकित्‍सालय में महिला सुरक्षाकर्मी के साथ पुलिसकर्मी द्वारा मारपीट करने के उपरांत फरियादी रेहाना बानों ने सिविल सर्जन के माध्‍यम से नगर निरीक्षक को कार्यवाही हेतु आवेदन दिया है। जिस पर सिविल सर्जन द्वारा भी आवश्‍यक कार्यवाही करने की अनुशंसा की गयी है। आवेदन में महिला सुरक्षाकर्मी ने लिखा है कि मेटरनिटी विंग में कार्यरत गार्ड श्रीमति रेहाना बानो अपनी ड्यूटी में कार्यरत थी। सुबह 9 बजे प्रसूता जानकी बाई पत्नि अरूण निवासी एसएएफ लाईन गुना प्रसूता के परिजन सफाई के समय (एक महिला एवं तीन पुरूष) अंदर जाने लगे, तभी गार्ड श्रीमति रेहाना बानो द्वारा महिला अटेंडर को अंदर जाने की अनु‍मति देते हुए, पुरूष अटेंडर को प्रसूति वार्ड में जाने से मना करने पर महिला का पति अरूण जो कि एक पुलिसकर्मी है, के द्वारा गार्ड श्रीमति रेहाना बानो को धक्‍का दिया और नीचे गिरा दिया एवं गाली-गलौच करते हुए चांटा मार दिया और उसके साथ उपस्थित महिला अटेंडर द्वारा भी हाथापाई की गयी। अरूण एवं महिला अटेंडर के साथ अरूण के साथ अन्‍य दो व्‍यक्ति भी मारपीट में सहयोग कराने लगे एवं गाली-गलौंच करने लगे। अरूण पुलिसकर्मी के द्वारा अपशब्‍दों का प्रयोग करते हुए महिला गार्ड को नौकरी से हटाने की भी धमकी दी गयी। 

23 हजार 600/-रूपये नकदी सहित जुआ खेल रहे 7 जुआरी गिरफ्तार

गुना ।  जिले के जामनेर थाना पुलिस द्वारा जुआरियों के विरूद्ध एक और बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया गया है। इस कार्यवाही में बड़े स्तर पर जुआ खेल रहे    7 जुआरियों को रंगेहाथ दबोचकर, जिनके कब्जे से 23,600/-रूपये नकदी सहित एक तास की गड्डी बरामद की र्गइं हैं। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गत् रात्रि में जामनेर थाना प्रभारी  कृपाल सिंह परिहार अपनी फोर्स के साथ पैट्रोलिंग पर थे, इसी दौरान रात्रि करीब 10ः30 बजे जामनेर के धोबी मौहल्ला में एक चबूतरे पर कुछ लोगों के बड़े स्तर पर जुआ खेले जाने की सूचना मिलने पर थाना प्रभारी कृपाल सिंह परिहार अपनी फोर्स के तत्काल रवाना हुये एवं धोबी मौहल्ला में चल रहे जुए के फड़ पर छापामार कार्यवाही कर मौके से जुआ खेल रहे रामबाबू पुत्र हजारीलाल प्रजापति, कमाल खां पुत्र बाबू खां, मोहन सिंह पुत्र नत्थूलाल माली, लालू पुत्र बलराम केवट, विनोद पुत्र भगवान सिंह मीना, सतीश पुत्र हरि सिंह बागड़ी सभी निवासी ग्राम जामनेर एवं निरंजन पुत्र लक्ष्मीनारायण मीना निवासी ग्राम वापचा को रंगेहाथ धर दबोच लिया गया। पुलिस द्वारा फड़ से कुल 23,600/-रूपये नगदी सहित तास की गड्डी, बरामद की गई तथा सभी 7 जुआरियों के विरूद्ध जामनेर थाने पर जुआ एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर विधिसम्मत कार्यवाही की गई।  

गुना जिले में बिखरे पड़े हैं विश्व स्तरीय पुरा संपदा के अवशेष, सरकारी संरक्षण न होने से प्राचीन पुरा संपदा नष्ट होने के कगार पर, जिले में दस हजार साल पुरानी संस्कृति के अवशेष मौजूद- कैलाश मंथन

गुना। विश्व पर्यटन दिवस चिंतन मंच के तहत हुए दो दिवसीय वर्चुअल सेमीनार के प्रथम दिन गुना अंचल में बिखरे हुए प्राचीन पुरा अवशेषों की दुर्दशा को लेकर चिंता जाहिर की गई। इस मौके पर चिंतन मंच के प्रमुख एवं पुराविद् कैलाश मंथन ने कहा कि जिले में सरकारी संरक्षण के अभाव में प्राचीन संस्कृति की विरासत गुफाएं एवं पुरासंपदा नष्ट होने के कगार पर है। जिला संग्रहालय न होने से बड़ी संख्या में पुरानी मूर्तियां एवं अवशेष चोरी जा चुके हैं। हाल में करीब एक दर्जन नई गुफाएं गढ़ा के जंगलों एवं गादेर घाटी में खोजी गई हैं। जिनमें पांच गुफाओं की एक श्रृंखला पंचमढी के नाम विख्यात है। गुना अंचल के पहाड़ी क्षेत्रों एवं जंगलों में हजारों वर्ष पुराने पुरावशेष बिखरे पड़े हैं। इन अवशेषों में गुफाओं, प्रस्तर प्रतिमाएं, कंकरीली पहाडिय़ों  पर बनाई गई दानवाकार मूर्तियां प्रमुख हैं। अतिक्रमण एवं लापरवाही के चलते अब तक तीन दर्जन गुफाएं क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं। पुराविद् एवं समाजसेवी कैलाश मंथन के मुताबिक इलाके की पहाडिय़ों पर अनेक स्थानों पर दानवाकार मूर्तियां प्राप्त हुई है। ये कंकरीली पहाडिय़ों पर बनाई गई इन प्रस्तर प्रतिमाएं महावीर एवं बौद्ध कालीन प्रतीत होती हैं। जबकि गुफाएं आदिकालीन हो सकती हैं। गुफाओं की श्रृंखलाएं देखकर लगता है कि प्राचीन युग में साधुओं एवं मुनियों की तप स्थली अथवा पुरायुग में जब मकानों का अभाव होगा तब आदि मानव की बस्तियां  हो सकती हैं।
अब तक खोजी जा चुकी हैं 150 गुफाएं
विश्व पर्यटन दिवस पर चिंतन मंच के संयोजक पुराविद् कैलाश मंथन ने बताया कि इस तरह की करीब एक दर्जन प्रतिमाओं एवं करीब 150 गुफाओं को उन्होंने खोजा है। जिसमें शैव, जैन, वैष्णव, बौद्धकालीन सभ्यता के अवशेष यहां-वहां बिखरे पड़े हैं। गुना, बरखेड़ा, गादेर, गढ़ाघाटी, चांदौल, टकट्इया, बमोरी क्षेत्र, मधुसूदनगढ़, आरोन, नठाई क्षेत्रों के जंगलों में एवं ग्रामीण क्षेत्रों में इस तरह की पुरा संस्कृति के अवशेष बिखरे पड़े हैं। समय-समय पर प्रदेश एवं केंद्र सरकार सहित पुरातत्व विभाग का ध्यान आकर्षित किया गया, लेकिन नतीजा शून्य निकला। पुराविद् कैलाश मंथन के मुताबिक भदौरा, केदारनाथ, सिरसी क्षेत्र में भी बहुमूल्य प्राचीन संस्कृति के अवशेष बिखरे पड़े हैं। देखरेख एवं संरक्षण न होने से अधिकांश पुरासंपदा चोरी की जा रही है। बजरंगगढ़ किले में संरक्षित तोपों एवं अनेकों मूर्तियां तस्कारों द्वारा गायब कर दी गई। गुना की सर्किट हाउस से प्राचीन मूल्यवान बौद्धकालीन भगवान बुद्ध की मूर्ति एक दशक पूर्व गायब हो चुकी है। वहीं सांदौलगढ़, चतराई गांव के निकट जंगल से जैन, वैष्णव, बौद्ध संस्कृति के पुरातत्व चोरी हो चुके हैं। जिला मुख्यालय पर पुरा संग्रहालय,  पुरासंंपदा के संरक्षण करने एवं पर्यटन क्षेत्र बनाने की मांग पुराविद् सदस्य समाजसेवी कैलाश मंथन ने की है।
प्राचीन क्षेत्र को संरक्षित करने एवं पर्यटन क्षेत्र बनाने की मांग-हिउस प्रमुख कैलाश मंथन के मुताबिक मुहालपुर पहाड़ी पर अनेकों चट्टानी कमरेनुमा गुफा दफन हैं। करीब दस हजार साल पुरानी सभ्यता एवं संस्कृति मुहालपुर की पहाडिय़ों पर दफन हो सकती हैं। गुफाओं के संरक्षण के लिए मप्र सरकार एवं जनप्रतिनिधियों का ध्यानार्कषण करते हुए पर्यटन एवं पुरातत्व विभाग से पुराविद् कैलाश मंथन ने गुना, बजरंगगढ़ सहित करीब एक दर्जन प्राचीन स्थलों को पर्यटन स्थल घोषित किए जाने की मांग रखते हुए ध्वस्त होती पुरासंस्कृति के संरक्षण की मांग की है। हिउस संस्थापक कैलाश मंथन ने भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार से मांग करते हुए कहा कि मालपुर, केदारनाथ, बीस भुजा भवानी, बजरंगगढ़ गुना जिले अति प्राचीन पर्यटन सिद्ध स्थलों पर लाखों श्रद्धालु यात्रा करने पहुंचते हैं। शिवरात्रि, नवरात्रि के दौरान लाखों यात्री इन स्थलों पर मत्था टेकने पहुंचते हैं। लेकिन सुविधाओं का अभाव होने से यात्रियों को भारी कष्ट होता है।  श्री मंथन के मुताबिक यदि भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार, पुरातत्व विभाग गंभीरता से इन अवशेषों को सहेजने के लिए योजना बनाए तो अति प्राचीन दफन हुई संस्कृति प्रकट हो सकती है। यदि यह संस्कृति जाहिर होती है तो क्षेत्र में विदेशी सैलानियों का आकर्षण बढ़ सकता है।

पति से झगड़कर घर से भागी महिला को पुलिस ने सुरक्षित वापस घर पहुंचवाया

गुना । गत्  28 सितंबर की रात्रि करीब 11ः30 बजे टेकरी मंदिर परिसर में एक अकेली 35 वर्षीय महिला के बैठे होने की सूचना मिलने पर कंट्रोल के माध्यम से तत्काल एफआरव्ही-2 एवं केंट थाने की पीसीआर मोबाईल को रवाना किया गया। पुलिस मोबाईल तुरंत टेकरी धाम पहुंची और जहां पर अकेली बैठी महिला से पूछताछ की गई, जिसने बताया कि वह धरनावदा थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली है और जिसका आज उसके पति से झगड़ा हो गया, झगड़े के बाद वह घर से भाग आई और यहां मंदिर में आकर बैठ गई। पुलिस द्वारा महिला के घरवालों को सूचना दी, इसके बाद उसका देवर आ गया। लेकिन महिला वापस घर जाने को तैयार नहीं थी। पुलिस द्वारा महिला को समझाया और किसी तरह वापस उसके घर जाने के लिये तैयार कर उसे देवर के सुपुर्द कर वापस सुरक्षित घर पहुंचवाया गया।

नाबालिग बालिका के साथ गलत काम करने वाले आरोपी पिता को न्‍यायालय ने सुनाई सजा

भोपाल ।  भोपाल के न्‍यायालय ने नाबालिग बालिका के साथ गलत काम करने वाले आरोपी पिता प्रेमनारायण प्रजापति दोषी पाते हुए पाक्‍सो एक्‍ट के अंतर्गत 7 वर्ष का कारावास एवं 8000रू के अर्थदंड, धारा 354 भादवि में 5 वर्ष सश्रम कारावास एवं 8,000रू के अर्थदंड, धारा 354(ग) भादवि एवं 11/12 पॉक्‍सो एक्‍ट के अंतर्गत 3 वर्ष के सश्रम कारावास एवं 5000 रू के अर्थदंडएवं 506 भादवि के अंतर्गत 2 वर्ष कारावास एवं 1000रू के अर्थदंड से द‍ंडित किया।  उक्‍त प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी विशेष लोक अभियोजक टी.पी. गौतम एवं श्रीमती सरला कहार  द्वारा की गयी। मीडिया प्रभारी सुश्री दिव्‍या शुक्‍ला ने बताया कि दिनांक 18.02.2021 को पीडिता द्वारा थाना कोहेफिजा भोपाल में इस आशय से रिपोर्ट लेख कराई गई कि पीडिता अपने माता -पिता एवं छोटे भाई बहन के साथ रहती है एवं 11 वी कक्षा की छात्रा है। पीडिता की मॉं घर में पार्लर चलाती है और उसकी देखभाल करती है। पीडिता के पिता (आरोपी) लालघाटी पर पंचर की दुकान चलाते है, और हर रोज नशा करके आते है और हर रोज पीडिता, उसकी मॉं एवं भाई बहन को गंदी गंदी गालियां देता है, और कपडे बदलते समय झांककर देखता है, यह बात पीडिता द्वारा उसकी मॉं को बताई गई किंतु आरोपी के पिता होने के नाते पीडिता ने उसकी शिकायत नहीं की। दिनांक 15/02/21 को शाम 6 बजे के करीब पीडिता की मम्‍मी और बहन पार्लर में थी, और भाई साईड वाली दुकान पर बैठा हुआ था और पीडिता किचिन में काम कर रही थी तभी पीडिता के पिता आरोपी प्रेमनारायण प्रजापति वहां आया और जोर से पीडिता को पकड लिया पीडिता के मना करने पर आरोपी पिता प्रेमनारायण प्रजा‍पति ने यह बात किसी को बताने पर पीडिता और उसकी मॉं को जान से मारने की धमकी दी।  पुलिस द्वारा आरोपी के विरूद्ध मामला पंजीबद्ध कर न्‍यायालय के समक्ष प्रस्‍तुत किया गया। न्‍यायालय द्वारा अभियोजन के तर्कों से सहमत होते हुये आरोपी प्रेमनारायण प्रजा‍पति को दंडित किया गया। 

स्मैक तस्करी करते हुये नशे का सौदागर रंगेहाथ गिरफ्तार

गुना । जिले के मधुसूदनगढ़ थाना पुलिस द्वारा अवैध मादक पदार्थों के विरूद्ध एक और महत्वपूर्ण कार्यवाही करते हुये सुठालिया तरफ से स्मैक लेकर सिरोंज की ओर जा रहे नशा सौदागर को गिरफ्तार किया गया है।
  पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गत् दिवस मधुसूदनगढ़ थाना पुलिस को सूचना प्राप्त हुई थी कि हीरो एचएफ डीलक्स मोटर सायकल  पर एक व्यक्ति राजगढ़ के सुठालिया तरफ से स्मैक लेकर सिरोंज की ओर जा रहा है। उक्त सूचना के मिलते ही मधुसूदनगढ़ थाना प्रभारी जयवीर सिंह बघेल ने फोर्स के साथ तत्काल सुठालिया रोड़ पर ग्राम अगरपुरा पहुंचे और नाकाबंदी की गई। जहां कुछ ही समय बाद उक्त व्यक्ति व मोटर सायकल के आते हुये दिखाई देने पर पुलिस द्वारा दुरूस्त कार्यवाही कर उक्त व्यक्ति को मोटर सायकल सहित पकड़ लिया गया, जिसने पूछताछ पर अपना नाम आशिफ अली पुत्र बुनियाद अली उम्र 40 साल निवासी सिरोंज, जिला विदिशा का होना बताया। पुलिस द्वारा जिसकी तलाशी ली गई तो उसके पेंट की मुढ़ी हुई मोहरी के अंदर छिपाकर रखी गई 16 ग्राम स्मैक कीमती करीबन 1,50,000/-रूपये की मिली। आरोपी के पास से मिली स्मैक एवं मोटर सायकल को पुलिस ने विधिवत जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार किया एवं जिसके विरूद्ध थाना मधुसूदनगढ़ में  एनडीपीएस एक्ट के तहत प्रकरण कायम कर विवेचना में लिया गया। आरोपी आशिफ अली द्वारा पूछताछ पर बताया कि वह अपने पार्टनर शाबिर खांन उर्फ भैया ट्रेक्टर निवासी सिरोंज के साथ स्मैक का धंधा करता है तथा उसी कहने पर वह स्मैक लेकर सिरोंज जा रहा था। जिस पर पुलिस द्वारा प्रकरण में शाबिर खांन उर्फ भैया ट्रेक्टर को भी आरोपी बनाया जाकर प्रकरण में धारा 29 एनडीपीएस एक्ट इजाफा की गई। गिरफ्तारशुदा आरोपी आशिफ अली को पुलिस द्वारा  न्यायालय के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया है एवं प्रकरण के फरार आरोपी शाबिर खांन की सक्रियत से तलाश की जा रही है और जिसे भी शीघ्र गिरफ्तार किया जावेगा।