अवैध रूप से 60 लीटर देशी शराब ले जाते हुये आरोपी गिरफ्तार

गुना । मादक पदार्थों के लिऐ चलाऐ जा रही मुहिम के क्रम में चाचौड़ा थाना प्रभारी  सुरेन्द्र सिंह यादव व उनकी टीम द्वारा मुखबिर सूचना पर त्वरित कार्यवाही कर शतिर बदमाश राहुल पुत्र गुलाब सिंह मालोनी को 60 लीटर अवैध शराब के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। प्राप्त जानकारी के आनुसार चाचौड़ा थाना प्रभारी सुरेन्द्र सिंह यादव को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि टोड़ी रोड़ बीनागंज से क्षेत्र का शातिर बदमाश राहुल मालौनी एक बड़ी कट्टी में देशी शराब लेकर उसे बेचने जा रहा है। सूचना को गंभीरता से लेकर थाना प्रभारी चांचौड़ा द्वारा तत्काल पुलिस की एक टीम मौके पर भेजी, टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही कर टोड़ी स्थित मरघटशाला के पास से उक्त बदमाश को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 60 लीटर अवैध शराब जप्त की जाकर थाना चांचौड़ा में अप.क्र. 409/19 धारा 34(2) आवकारी एक्ट का कायम कर आरोपी को न्यायालय पेश किया गया, जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया। उल्लेखनीय है कि गिरफ्तार आरोपी के विरूद्ध थाना चांचौड़ा में करीबन एक दर्जन से भी अधिक प्रकरण पंजीवद्ध होना पाये गये हैं एवं जिसे पूर्व में जिला बदर भी किया जा चुका है। इस सराहनीय कार्यवाही में चाचौड़ा थाना प्रभारी  सुरेन्द्र सिंह यादव के साथ बीनागंज चौकी प्रभारी एसआई आनंद सोनी, एएसआई अजय सिंह चौहान, आरक्षक शिवप्रताप सिंह, आरक्षक नरेन्द्र, आरक्षक गोवर्धन एवं आरक्षक सतीश जैन की अहम भूमिका रही।

ब्राम्हण महासभा ने किया नशा मुक्ति अभियान का शुभारंभ पूरे जिले में घर-घर जाकर व बैठक के द्वारा चलाया अभियान

गुना। अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा रा. की प्रदेश स्तरीय कमेटी द्वारा नशामुक्ति अभियान का शुभारंभ किया गया। इसी क्रम में यह अभियान गुना जिले में भी चलाया गया तथा लोगों का नषा को छोडने के लिये जागरूक किया गया। जिसमें तहसील-राघोगढ़़, गुना, आरौन, चाचोड़ा, बमोरी, मक्सूदगंज तथा कुम्भराज तथा विभिन्न कस्वों में चलाया गया। इस अभियान में समजा के वरिष्ठ, युवा व महिलाओं ने बढ़-चढ़कर के हिस्सा लिया। इस अभियान के समय मुख्य तौर पर संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारी व समाजसेवी पं कृष्णकान्त तिवारी उपस्थित होकर रहेे तथा लोगों को जागरूक किया। नशा मुक्ति अभियान चलाने का निर्णय अभी हाल ही में प्रदेश कार्यालय ग्वालियर में हुई प्रदेश स्तरीय बैठक में लिया गया, जिसमें ब्राम्हण महासभा की प्रदेश स्तरीय कमेटी द्वारा यह फैसला लिया गया कि पूरे प्रदेष के प्रत्येक जिले की प्रत्येक तहसील में यह अभियान सुचारू रूप से चलाया जा रहा है। जिसकी शुरूआत प्रत्येक सदस्य के परिवार, रिष्तेदार, पडौसी, व पहचान वालों को जागरूक कर उन्हें नषे की लत से दूर करने की जिम्मेदारी होगी। जिसमें प्रत्येक जिले में यह कार्य किया जा रहा है। गुना जिले की भी समस्त तहसीलों में यह अभियान चलाया गया व आगे भी चलता रहेगा। आज जो यह नशा मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है वह प्रत्येक जिले के जिलाध्यक्ष व परशुराम सेना जिला अध्यक्ष के नेतृत्व में चलाया जा रहा है उसका प्रदेष कमेटी के द्वारा समय-समय पर इसका फीडबैक लिया जावेगा। यह बात अभियान में सम्मलित होने के लिये आये ब्राम्हण महासभा के वरिष्ठ पदाधिकारी व समाजसेवी पं कृष्णकान्त तिवारी ने मुख्य अथिति के तौर पर कही। उन्होंने बताया, कि पूरे प्रदेष में यह अभियान का संचालन प्रदेश के अध्यक्ष व पूर्व उप-पुलिस अधीक्षक पं केडी सोनकिया, प्रदेष प्रभारी पं भूपेन्द्र बालौठिया, परशुराम सेना प्रदेष अध्यक्ष पं सतानंद शर्मा तथा महिला बिंग की प्रदेश अध्यक्ष ममता दीक्षित के मार्गदर्षन में समस्त जिलों में सुचारू रूप से चलाया जा रहा है। जिसकी प्रत्येक 2 महीने में प्रदेश स्तरीय समीक्षा की जावेगी। इससे पहले पं कृष्णकान्त तिवारी ने बताया, कि नशा एक ऐसी समस्या बन गया है जो आज हमारे देश को अन्दर ही अन्दर से खोखला कर रहा है। नशे को जल्द से जल्द रोका जाना अति आवष्यक है इसी उदेष्य से कार्य करेंगे तभी एक नये, जागरूक और विकसित राष्ट्र की स्थापना कर पायेंगे। आज नशा की बजह से अनेक परिवार बर्वाद हो गये है और अनेक परिवार वर्बाद होने की कगार पर है और गरीब परिवार में अनेक ऐसे घर है जहाॅ आर्थिक स्थिति खराब है ऐसे में जब उनके परिवार का कोई सदस्य नषे की लत में हो तो ऐसे में  उनके ऊपर न केवल आर्थिक संकट का सामना करना पड़ता है बल्कि उनके परिवार में लडाई झगडे की भी स्थिति उत्पन्न हो जाती है। आज संगठन के वरिष्ठ नेतृत्व के द्वारा यह फैलसा न केवल हम सभी को जागरूक करने के लिये है बल्कि इससे आगे आने बाली पीढ़ी भी इस बुरी लत से दूर होगी। नशा मुक्ति अभियान का शुभारंभ दिनऊ मंदिर पर आयोजित बैठक से किया गया जिसमें संगठन के समस्त पदाधिकारियों के द्वारा घर-घर जाकर के समाज के लोगों को व अन्य समाज के लोगों को नशे को बंद करने के लिये जागरूक किया व समझाया। इस अभियान में प्रमुख रूप से जिले के वरिष्ठ पदाधिकारी व ब्राम्हण महासभा भाईयों, समाज के व्यक्तियों व अन्य समाज के भाईयों ने इस अभियान में लोगों को जागरूक किया। यह अभियान आगे भी सुचारू रूप से चलता रहेगा।   

शहर के पार्क के मुख्य द्वार पर जलेबी का अतिक्रमण

गुना । जी हाँ सुनने में अजीब जरूर लगेगा परन्तु यही सच है । आमजन के लिये लाखों रुपये की लागत से बना शास्त्री पार्क का मुख्य द्वार (दरवाजा) महज एक जलेबी बाले के द्वारा किये अतिक्रमण की चपेट में है । शाम होते ही पार्क के मुख्य द्वार पर जलेबियाँ बिकती है और इन जलेबी का जायका लेने यहाँ अच्छी खासी भीड़ भी लग जाती है । शाम को अपने घरों से निकली महिलाएं और बच्चे पार्क का लुफ्त उठाने आते है परंतु मुख्य दरवाजे पर जलेबियाँ खाने आये लोगों की भीड़ की बजह से अंदर नहीं जा पाते। यही नही कुछ मस्करे और मनचले भी यहाँ भीड़ का हिस्सा बने होते है जो कि महिलाओं और छोटी उम्र की युवतियों को देखकर अश्लील हरकतें व टिप्पणियां करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ते । अब सवाल ये बनता है कि क्या लाखों रुपये की लागत से बनाया पार्क जनता के लिऐ है….? अगर है तो उसमें आम जनता क्यों नही जा पा रही ।

चोरों की दहशत में क्षेत्रवासी चोरी में नाकाम चोरों ने किया पिता-पुत्र पर हमला

गुना । मामला फतेहगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कुम्हारी का यहां चोरों ने गुरुवार शुक्रवार रात दरमियान चोरों ने नसीम खान के घर चोरी का प्रयास किया चोरों ने घर के पिछली दीवाल को कोल कर घर में घुसने का प्रयास कर रहे थे इसी बीच नसीम खान को घर के पिछले हिस्से में खटपट की आवाज आई जिससे वह जागकर घर के पीछे पहुंचे यहां चोर उनकी घर की दीवाल को लोहे की रॉड से कोल रहे थे तब नसीम खान चिल्लाने लगे उनकी आवाज सुनकर पुत्र आसिफ भी वहां पहुंच गया दोनों के शोर मचाने पर चोरों ने लोहे की रॉड से पिता-पुत्र दोनों पर जानलेवा हमला कर दिया और उनको गंभीर हालत में पास ही में छोड़कर भाग खड़े हुए हमले में घायल पिता पुत्र को राजस्थान के बारा ले जाया गया यहां उनकी गंभीर स्थिति को देखते हुए कोटा रैफर कर दिया गया हादसे में आसिफ खान के सर में गहरी चोट आई है और टांके भी लगे हुए हैं तो वहीं नसीम खान के भतीजे का कहना है नसीम खान गंभीर हालत में है और वह कुछ बोल नहीं पा रहे बेहोशी की हालत में ही उन्हें कोटा रेफर कर दिया गया है आपको बता दें इससे पहले भी कपासी गांव में भी चोरों ने एक वृद्धा के घर चोरी की थी जब वृद्धा की नींद खुली तो चोरों ने उसे भी लोहे की रॉड से पीट-पीटकर उसकी रीड की हड्डी तोड़ दी थी और चोर यहां से लाखों का माल ले उड़े थे पिछले करीब 2 वर्षो से फतेहगढ़ बमोरी थाना क्षेत्र में लगातार हुई चोरियों मैं चोरों का ना पकड़ा जाना और ना ही किसी प्रकार का सुराग लगना पुलिस को फिसड्डी साबित करता है और इसी कारण से अब चोरों के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि वह चोरी के दौरान जानलेवा हमला करने में भी नहीं चूकते हालांकि इस गंभीर हादसे को देखते हुए गुना पुलिस अति अधीक्षक भी मौके पर पहुंच कर जायजा लिया साथ ही फतेहगढ़ पुलिस ने धारा 458 व धारा 382 के तहत अज्ञातो पर मामला दर्ज किया है

दयनीय हुए शासकीय विद्यालयों के हालात

गुना । बमोरी विधानसभा अंतर्गत शासकीय विद्यालयों के हालात बद से बदतर हो चुके हैं !बमोरी क्षेत्र में शिक्षा के हालात किसी से छुपे हुए नहीं हैं ! शासन द्वारा शासकीय विद्यालय व शिक्षकों पर शासन हर वर्ष करोड़ों खर्च करती है पर जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां करती है ! शासकीय विद्यालयों का उदासीन रवैया के कारण ही गांव गांव प्राइवेट स्कूल खुलने लगे और पालकों से मोटी रकम एटी जाती है !

शासकीय विद्यालयों में 50 % भी नहीं मिलती बच्चों की संख्या !

बमोरी ब्लॉक के करीब 80 परसेंट शासकीय विद्यालयों में दर्ज बच्चों की अनुपात संख्या से 50% संख्या भी नहीं रहती उपस्थित ! ऐसे ही कुछ विद्यालय हैं ग्राम पाठी शासकीय विद्यालय स्कूल बच्चे 139 पर जब हम यहां पहुंचे तो बच्चों की संख्या 40 से 45 उपस्थित थी ! इसी प्रकार कुमारी विद्यालय दर्ज बच्चे 114 उपस्थिति मात्र 44 बच्चे , वर्धा शासकीय विद्यालय दर्ज बच्चे 73 उपस्थिति 21 बच्चे , चितौड़ा विद्यालय दर्ज बच्चे 63 उपस्थित मात्र 9 बच्चे ,आदिवासी के टपरे दर्ज बच्चे 44 उपस्थित 15 से 20 बच्चे , सिंगापुर विद्यालय दर्ज बच्चे 69 उपस्थित 23 बच्चे , बोंगला विद्यालय दर्ज बच्चे 14 उपस्थित मात्र 4 बच्चे , माना शासकीय विद्यालय दर्ज बच्चे 109 उपस्थित 21 बच्चे ,

शासकीय विद्यालयों में नहीं मिलते शिक्षक !

एकीकृत साला पाठी शिक्षक संख्या 7 उपस्थित मात्र 4 शिक्षक प्रभारी शिक्षक प्रमोद भार्गव साथ ही सीएससी जन शिक्षा केंद्र परवाह ! पत्नी विनीता भार्गव भी यहीं पदस्थ यह भी गैरहाजिर , कमलेश कुमार मीणा यह भी गैरहाजिर प्रभारी प्रमोद भार्गव एक साथ 2 पदों पर और करीब सात-आठ वर्ष से सीएससी के पद पर वर्तमान में भी पदस्थ हैं ! कुमारी विद्यालय यहां मिडिल स्कूल में ताला प्राइमरी में मात्र एक शिक्षक उपस्थित। चित्तौड़ा विद्यालय हमारे निरीक्षण के दौरान प्रभारी रामगोपाल शर्मा व प्रेम सहरिया गैरहाजिर ! अतिथि मौजूद शाला में ताला लगा था और अतिथि 9 बच्चों को लेकर अतिरिक्त कक्ष में पढ़ा रहे थे ! उनके पास हाजिर रजिस्टर्ड तक मौजूद नहीं था ! विद्यालय वर्धा यहां भी अतिथि शिक्षक बच्चों को पढ़ा रहे थे प्रभारी शिक्षक नदारद थे ! शासकीय विद्यालय बंजारे के टपरे यहां का दृश्य तो अद्भुत था शिक्षक गायब थे गांव का ही एक 10 वर्षीय बालक बच्चों को पढ़ा रहा था यहां के शिक्षक और अतिथि शिक्षक दोनों स्कूल से गायब थे !!शासकीय विद्यालय आदिवासी के टापरे कुल शिक्षक दो एक सुरेश किरार उपस्थित , सीताराम अहिरवार अकारण अनुपस्थित ! शासकीय विद्यालय माना कुल स्टाफ 4 एक अतिथि ! प्रभारी मैडम अनुपस्थित ! शासकीय विद्यालय बंगला यहां पदस्थ 2 शिक्षकों में से मात्र एक शिक्षक उपस्थित !इस तरह शिक्षा के हालात बमोरी ब्लॉक में ! विद्यालयों में बच्चे 50% से कम उपस्थित तो वही शिक्षक भी ज्यादातर गायब ! जब बच्चों की कम उपस्थिति के बारे में शिक्षकों से पूछा जाता है तो प्रत्येक विद्यालय के शिक्षकों का जवाब एक ही होता है मानो सारे शिक्षक इस जवाब को रटकर बैठे हैं शिक्षक जवाब देते हैं पालक बच्चों को स्कूल नहीं भेजते हम क्या करें ! और जब इन से शिक्षकों की अनुपस्थिति के बारे में पूछे तो कहते हैं आज बमोरी मीटिंग में हैं या शासकीय काम से बाहर हैं ! और ऐसे में शिक्षा व्यवस्था कैसे सुधरे कैसे साक्षर होंगे बच्चे ! बमोरी विधानसभा आदिवासी बहुमूल्य है और यही आदिवासी क्षेत्रों में बच्चे और शिक्षकों का अनुपस्थित रहना दयनीय है !
जब इस संबंध में बमोरी बी ई ओ मीनाक्षी सोनी से जवाब लेना चाहा तो उनका फोन कवरेज से बाहर आया

लापरवाही : मौत का सफर करती सवारियाँ अगर हुआ कोई हादसा तो जिम्मेदारी किसकी

गुना । यह तस्वीर बहुत कुछ बयां करती है जैसा कि आप देख सकते हैं अगर भाग्यवश ऑटो रिक्शा के पीछे बंधी रस्सी के बंधन खुल जाते हैं तो महिला को अपनी जान से हाथ धोना पड़ सकता है इसके बाद महिला की जान जाने की जिम्मेदारी किसकी बनेगी जी हां यह तस्वीर ए.बी रोड पर से एक चलते ऑटो से ली गई है आए दिन इसी प्रकार ऑटो चालक सवारियों को इसी अंदाज़ से इस रोड से होकर गुजरती हैं । यह सभी ऑटो संजय स्टेडियम, हाट रोड़, रिलायंस पेट्रोल पंप, आरोन बस स्टैंड, साईं बाबा मंदिर, नानाखेड़ी मंडी से सबारियो को बिठाकर आस पास के गाँवो के लिये निकलते है । शहर के आस-पास के गांव में सवारियों की आवाजाही रहती है सवारिया कम किराए और जल्दी पहुंचने के लिए ऑटो जैसे साधन का उपयोग करते हैं । ऑटो में 5 से अधिक सवारियां नहीं बैठाई जा सकती इसलिए सवारियां पीछे लटककर दरवाजे पर लटक कर सफर करती हैं दुर्भाग्यबस अगर कोई दुर्घटना घटित होती है तो इसमें आखिर जिम्मेदारी किसकी बनेगी इस प्रकार की स्तिति आपको रोजाना शहर के आसपास के गांव में परिवहन करते ऑटो में देखने बड़ी आसानी से मिल जाएगी । कैसे सवारियां जान जोखिम में डालकर सफर करती है इसके बावजूद भी प्रशासन कोई बड़ी अनहोनी होने के बाद इस मामले पर ध्यान आकर्षित करेगा या इन लापरवाह ऑटो चालकों पर कड़ी कार्यवाही ।

कचरा वाहनों का रूट मेंप अनुसार नाकेदारों द्वारा बहुत कम संख्या में रसीदें काटने पर कलेक्‍टर ने जताई नाराजगी

गुना ।  कलेक्टर भास्‍कर लाक्षाकार द्वारा आज नगर पालिक परिषद गुना के सभाकक्ष में गत दिनों 14 नवंबर की बैठक में दिए गए निर्देशों के क्रम में समीक्षा की गई। बैठक में उन्‍होंने विभिन्न वार्डों में सीटी पीटी निर्माण की प्रगति, ट्रेंचिंग ग्राउंड पर कचरा सफाई एवं डंपिंग की स्थिति, सफाई कर्मचारियों को बराबर संख्या में वार्डों में बांटने की प्रगति, कचरा वाहनों के रोड मैप एवं निकाय के नाकेदारों द्वारा विभिन्न वार्डों में काटी गई रसीदों की जानकारी ली गई । समीक्षा के दौरान उन्‍होंने कचरा वाहनों का रूट मेंप तैयार होकर नाकेदारों द्वारा बहुत कम संख्या में रसीदें काटी गई है, को देखते हुए कलेक्टर श्री लाक्षाकार ने नाराजगी व्यक्त की। उन्‍होंने सीटी पीटी की भी ज्यादा प्रगति नहीं होने पर भी नाराजगी व्यक्त की तथा शहर के प्रमुख नालों में लगाई गई जालियों एवं पुलों के ऊपर भी जाली लगाने के निर्देश दिए। उन्‍होंने शहर के विभिन्न भार्गों पर चल रही स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा पेंटिंग कार्य के बारे में भी जानकारी ली तथा आवश्‍यक निर्देश दिए। उन्‍होंने अगले रविवार को शहर के अन्‍य दूसरे स्कूलों से पेंटिंग कराया जाएगा। इस हेतु जिला प्रशासन एवं नगरीय निकाय गुना को आवश्‍यक व्‍यवस्‍थाएं करने के लिए सीएमओ को निर्देशित किया। आयोजित बैठक में अध्‍यक्ष नगर पालिक परिषद राजेन्‍द्र सिंह सलूजा, परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण सुश्री सोनम जैन, मुख्‍य नगर पालिका अधिकारी संजय श्रीवास्‍तव सहित नगरीय निकाय के विभिन्‍न शाखाओं के प्रमुख मौजूद रहे।

न्यायालय परिसर में तम्बाकू के प्रयोग पर पटवारी समेत चार पकड़े

गुना ।   जिला एवं सत्र न्यायाधीश राजेश कुमार कोष्टा के द्वारा न्यायालय परिसर को धूम्रपान मुक्त करने संबंधी निर्देश के अनुक्रम में जिला रजिस्ट्रार, न्यायिक मजिस्ट्रेट कौशलेन्द्र सिंह भदौरिया के द्वारा न्यायालयीन परिसर का निरीक्षण करने के दौरान न्यायालय परिसर में तम्बाकू एवं बीडी का सेवन करते हुये पाये जाने पर पटवारी समेत चार लोगों को सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद (विज्ञापन का प्रतिषेध और व्यापार और वाणिज्य, उत्पादन, प्रदाय और वितरण का विनियमन) अधिनियम 2003 (कोटपा एक्ट) की धारा 4 के अंतर्गत दोषी पाते हुये अर्थदंड से दंडित किया। न्यायालय परिसर में तंबाकू एवं गुटखा का सेवन करते हुये पकडे जाने पर पटवारी कैलाश नारायण शर्मा पुत्र गैंदालाल शर्मा निवासी वार्ड क्रमांक 24 रूठियाई तहसील राधौगढ़ पर सौ रूपये का अर्थदण्ड तथा बीडी का सेवन करते हुये पाये जाने पर पप्पू उर्फ रूपसिंह कुशवाह, संतोष पुत्र दौलतराम कुशवाह निवासी खिरिया थाना बदरवास, तौरन पुत्र कन्ना नायर निवासी फतेहगढ पर पचास-पचास रूपये का अर्थदण्ड जिला रजिस्ट्रार, न्यायिक मजिस्ट्रेट श्री कौशलेन्द्र सिंह भदौरिया के द्वारा किया गया है। उल्‍लेखनीय है कि जिला न्यायाधीश के आदेशानुसार जिला न्यायालय परिसर को तम्बाकू एवं धूम्रपान प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किया गया है तथा इस संबंध में न्यायालय परिसर में जगह-जगह फ्लैक्स भी लगवाये गये हैं।

फर्म धाकड कृषि क्लिनिक का लायसेंस निलंबित

गुना ।  जिला स्‍तरीय गुण नियंत्रण दल द्वारा फर्म धाकड कृषि क्लिनिक टाउन हॉल के सामने हनुमान चौराहा गुना के संस्‍थान का औचक निरीक्षण किया गया। मौके पर मौजूद श्री दिनेश कुमार धाकड से फर्म से संबंधित अभिलेख चाहे जाने पर उन्‍होंने कोई भी अभिलेख पूर्ण प्रस्‍तुत नहीं किये। साथ ही विक्रय केन्‍द्र पर स्‍टॉक एवं मूल्‍य सूची प्रदर्शित नही की गई। स्‍टॉक एवं वितरण पंजी, केश एवं क्रेडिट मेमो, अभिलेख संबंधित अधिकारी द्वारा सत्‍यापित नहीं कराया जाना आदि कमियां पाई गयी। कीटनाशक अनुज्ञप्ति अधिकारी एवं उप संचालक किसान कल्‍याण तथा कृषि विकास अशोक कुमार उपाध्‍याय द्वारा फर्म धाकड कृषि क्लिनिक टाउन हॉल के सामने हनुमान चौराहा गुना के प्रस्‍तुत प्रतिउत्‍तर (स्‍पष्‍टीकरण) से सहमत नही होने के कारण कीटनाशक अधिनियम 1968 एवं कीटनाशक नियम 1971 के प्रावधानों के तहत तत्‍काल प्रभाव से लायसेंस निलंबित कर दिया गया है।

कार्य में लापरवाही एवं उदासीनता बरतने के कारण एक निलंबित दो को नोटिस

गुना ।  विकास खण्‍ड राघौगढ अंतर्गत ग्राम चांदनभेंट में ”आपकी सरकार आपके द्वार” अंतर्गत आयोजित शिविर के दिन शासकीय सहरिया बालक आश्रम शाला गादेर का जिला संयोजक द्वारा आकस्मिक निरीक्षण किया गया। संस्‍थास में पदस्‍थ उच्‍च श्रेणी लिपिक माताप्रसाद दोहरे, प्रा‍थमिक शिक्षक शिववसर्वन मीना एवं रामस्‍वरूप शिवहरे संस्‍था से अनुपस्थित पाए गये। क्षेत्र संयोजक द्वारा आदिम जाति कल्‍याण विभाग गुना के निरीक्षण प्रतिवेदन 20 नवंबर के अनुसार भी संस्‍था पूर्णंत: बंद पाई गयी है। उक्‍त कर्मचारियों द्वारा अपने पदीय दायित्‍वों को कर्तव्‍य निष्‍ठा से निर्वहन नही करने, अपने कार्य में लापरवाही एवं उदासीनता बरतने के कारण कलेक्‍टर भास्‍कर लाक्षाकार के आदेश द्वारा तत्‍काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। साथ ही प्राथमिक‍ शिक्षक शिवसर्वन मीना एवं रामस्‍वरूप शिवहरे संस्‍था से अनुपस्थित पाये जाने एवं अपने पदीय दायित्‍वों को कर्तव्‍य निष्‍ठा से निर्वहन नहीं करने, अपने कार्य में लापरवाही एवं उदासीनता बरतने के कारण इन्‍हें ”कारण बताओ सूचना पत्र” जारी किया गया है।