जानबूझ कर अनदेखी या फिर अधिकारियों का संरक्षण है प्राप्त, पुरानी गल्ला मंडी का मामला :- जहां मंडी प्रशासन द्वारा फल सब्जी विक्रेताओं से बिना रसीद दिए की रही है अवैध वसूली

गुना। मामला पुरानी ग़ल्ला मंडी है, जहां मंडी प्रशासन के कर्मचारियों द्वारा बिना रसीद दिए फल, सब्जी विक्रेताओं के अबैध  वसूली की जाती है। इस संबंध में मंडी सचिव से पूर्व में भी शिकायत की गई थी, तो उनके द्वारा इस व्यवस्था के सुधार के लिए आश्वासन दिया गया था, मगर कई माह बीतने के बाद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है।
फल सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि  मांगे जाने पर भी रसीद नहीं दी जाती है, और विवाद की स्थिति बनती है, कहीं किसी को रसीद दे देते हैं बाकी सब से बिना रसीद के ही टैक्स के रूप में पैसे की वसूली की जा रही है।
 मंडी प्रशासन के कर्मचारियों द्वारा फल सब्जी विक्रेताओं से टैक्स के रूप में पैसे वसूलने का काम बरसों से बदस्तूर जारी है, इस ओर प्रशासन के किसी अधिकारी या ध्यान नहीं है शिकायत करने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की जाती है।
ऐसे में इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारियों के संरक्षण में यह सब काला पीला चल रहा है।
स्थानीय फल सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि मंडी प्रशासन टैक्स ग्रुप में पैसे की वसूली तो करता है मगर यहाँ कि सफाई व्यवस्था पर किसी का कोई ध्यान नहीं है। कचरा चार चार दिन तक नहीं उठाया जाता है, सारे दिन गंदी बदबू के मारे दम घुटने लगता है ।

मंदिर प्रांगण में लगा रहता है कचरे का ढेर 

यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि पुरानी गल्ला मंडी परिसर में श्री बालाजी का मंदिर है, जहां मंदिर परिसर में सारे दिन कचरे के ढेर लगे रहते हैं, जहां 4-4 दिन तक कोई सफाई करने नही आता है। वायरल मौसम का समय चल रहा है जहां मच्छर पनप रहे है। बारिश का मौसम है  ऐसे में बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है।

Leave a Comment