छोटा भाई ही निकला अपने बडे भाई का हत्यारा, शराब के लिये पैसे मांगने के विवाद में छोटे भाई ने बडे भाई की रस्सी से गला घोंटकर की थी हत्या

गुना ।  चौरसिया कालोनी निवासी हरियाली संजीव पुत्र नाथू लाल अहिरवार ने 8 जनवरी 2022को कैन्ट थाने पर सूचना दी कि 8 जनवरी के शाम करीबन 6 बजे उसका बडा भाई राजेन्द्र अहिरवार उम्र 25 साल घर पर यह कहकर गया था कि वह प्रकाश अहिरवार को गुलाबगंज छोडने जा रहा है शाम करीबन 7 बजे तक जब राजेन्द्र वापस घर नही आया तो वह तथा उसके पिता नाथूलाल अहिरवार राजेन्द्र की तलाश मे गुलाबगंज तरफ गये तो मोती चिल्ड्रन स्कूल के वाउण्ड्री के पास उसका भआई राजेन्द्र बेहोश सा पडा मिला जिसे बेहोशी की हालत मे उठाकर घर ले आये औऱ उस पर पानी छिडक कर देका तो वह नही बोला आसपास के लोग भी वहां जमा हो गये और उन्होने बताया कि राजेन्द्र की मृत्यु हो गई है । इस सूचना के मिलते ही थाने से पुलिस फोर्स तत्काल मौके पर पहुंची और लाश एवं घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण कर आवश्यक साक्ष्य जुटाये गये एवं कैन्ट थाने पर मर्ग कायम कर जांच मे लिया गया तथा मृतक का पीएम कराया जाकर मामले की जांच शुरु की गई । पुलिस की प्रारंभिक जांच एवं मृतक राजेन्द्र अहिरवार की पीएम रिपोर्ट मे गला घोंटकर उसकी हत्या करना पाया जाने पर थाना केन्ट मे 16 जनवरी 2022 को अज्ञात आरोपी के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कर विवेचना मे लिया गया । कैन्ट थाना प्रभारी विनोद सिंह छावई अपनी टीम के साथ  प्रकरण के अज्ञात आरोपी की तलाश मे सघनता से जुट गये । हत्या के इस प्रकरण मे पुलिस द्वारा गहन विवेचना की  गई एवं संदेह के दायरे मे आने वाले सभी व्यक्तियों से कडी पूंछताछ की गई । पुलिस द्वारा की गई पूंछताछ मे पुलिस के शक की सुई मृतक के छोटे भाई संजीव अहिरवार पर गई और जिसे हिरासत मे लेकर सख्ती से पूंछताछ की गई तो उसने हत्या का सारा राज उगल दिया, जिसने बताया कि उसका   अपने बडे भाई राजेन्द्र अहिरवार से शराब पीने के लिये पैसे मांगने पर से विवाद हो जाने के कारण उसके द्वारा अपने बडे भाई राजेन्द्र अहिरवार की रस्सी से गला दबाकर हत्या कर देना बताया गया ।  पुलिस द्वारा आरोपी संजीव अहिरवार पुत्र नाथूलाल अहिरवार उम्र 18 साल को प्रकरण मे गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है ।   

Leave a Comment